nayaindia Earthquake: भूकंप से कांपी नेपाल-भारत की धरती, तेज झटकों ...
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | देश | दिल्ली| नया इंडिया| Earthquake: भूकंप से कांपी नेपाल-भारत की धरती, तेज झटकों ...

भूकंप से कांपी नेपाल-भारत की धरती, तेज झटकों ने दिल्ली समेत उत्तर भारत को हिलाया, यहां 6 की मौत

नई दिल्ली | Earthquake: नेपाल सहित भारत की भूमि भूकंप के झटकों से कांप उठी है। दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में मंगलवार देर रात करीब 2 बजे भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं। भूकंप के कारण आधी रात को लोगों की नींद उड़ गई और लोग घबराकर घरों से बाहर दौड़ पड़े। नेपाल में तो भूकंप से 6 लोगों की मौत होने की खबर है। वहीं, भारत के पहाड़ी राज्य उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में आज बुधवार सुबह-सुबह भी भूकंप आया है। यह भूकंप सुबह 6.27 बजे आया और इसकी तीव्रता 4.3 मापी गई है।

जानकारी के अनुसार, मंगलवार आधी रात को आए भूकंप का केन्द्र नेपाल रहा। जिसके चलते भारत के कई राज्य हिल उठे। देश की राजधानी दिल्ली समेत यूपी, उत्तराखंड, बिहार, हरियाणा और मध्य प्रदेश तक भूकंप के तेज झटके महसूस किए है। हालांकि भारत में जान-माल की हानि की खबर नहीं है।

ये भी पढ़ें:- लग रहा है कि लिखते हुए निब तोड़ दें!

नेपाल में आया भूकंप काफी शक्तिशाली रहा। भूकंप की तीव्रता 6.3 रिएक्टर स्केल मापी गई है। इसकी वजह से नेपाल में एक घर के गिर गया जिसमें दबने से 6 लोगों की मौत हो गई है। आधी रात को ही लोग घरा से बाहर निकल गए। लोगों में अभी भी दहशत का माहौल बन हुआ है।

ये भी पढ़ें:- हेमंत पर चुनाव आयोग के फैसले का क्या होगा?

Earthquake: दिल्ली-एनसीआर समेत भारत में देर रात 2 बजे आए भूकंप के झटकों से पहले उत्तराखंड और यूपी में भूकंप आया था। जिसकी रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 4.9 मापी गई थी और इसका केंद्र उत्तराखंड में भारत-नेपाल सीमा पर रहा था। भूकंप की गहराई 10 किलोमीटर नीचे बताई गई थी इसके अलावा रात को आए इन दोनों झटकों से पहले मंगलवार को सुबह 11 बजकर 57 मिनट पर भी उत्तर भारत के कुछ शहरों में लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किये थे। जिनकी तीव्रता 4.4 थी।

 

ये भी पढ़ें:- आयोग और राज्यपाल ने क्यों की देरी?

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen + 2 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
न नीतीश-तेजस्वी नाराज थे और न अखिलेश
न नीतीश-तेजस्वी नाराज थे और न अखिलेश