दुनिया के आयरमैन Elon Musk ने एक बार फिर टवीट कर बताई स्पेसशिप की महत्ता - Naya India
ताजा पोस्ट | लाइफ स्टाइल| नया इंडिया|

दुनिया के आयरमैन Elon Musk ने एक बार फिर टवीट कर बताई स्पेसशिप की महत्ता

दुनिया के आयरमैन के नाम से मशहूर एलोन मस्क हमेशा से ही स्पेस से जुड़े कार्यों में रूचि दिखाते आए है। इसी क्षेत्र में उन्होने कई ऐसे काम भी किये है। इस बार एलोन मस्क ने एक दिलचस्प ट्विट किया है। स्पेसएक्स और टेस्ला के मालिक एलोन मस्क हमेशा से ही मंगल पर जाने की रूचि रखते है।एलन मस्क ने कहा है कि अगर उस समय स्पेसशिप होते आज डायनासोर पृथ्वी पर घूम रहे होते। बताया जाता है कि 6.6 करोड़ साल पहले पृथ्वी से एक क्षुद्रग्रह टकराया था। यह टकराव 10 अरब आणविक बमों के बराबर शक्तिशाली था इसकी वजह से पृथ्वी पर ऐसे बदलाव आए की डायनासोर सहित दुनिया के दो तिहाई जीवों को नाश हो गया।

साल 2019 में इस विनाशकारी टकराव और उसके प्रभावों पर एक शोध किया गया था। वैज्ञानिकों ने मैक्सिको के युकाटैन प्रायद्वीप में हुए इस टकराव में बिखरे सैंकड़ों पत्थरों का अध्ययन किया। उनका मानना है कि इस टकराव से दुनिया भर में सुनामी, और जंगलों में आग जैसी घटनाएं हुई और पृथ्वी के वायुमंडल में विशाल मात्रा में सल्फर छा गया था और लंबे समय तक पृथ्वी पर सूर्य की किरणें नहीं पहुंच सकी थीं।

इसे भी पढ़ें World Menstrual Hygiene Day 2021: कोरोना काल ने बढ़ा दी महिलाओं के मासिक धर्म के दौरान होने वाली समस्याएं

ऐसे खात्मा हुआ डायनासोर का

इस अध्ययन में बताया गया कि टकराव से बहुत से डायनासोर मारे गए थे, पर सभी का सफाया नहीं हुआ था। लेकिन बाद की घटनाओं से पृथ्वी पर जो ठंडक का वातावरण बना उसमें डायनासोर खुद को बचा नहीं सके थे और पूरी तरह से नष्ट हो गए थे। अध्ययन में वैज्ञानिकों ने पाया था कि टकराव के कारण क्रेटर में बहुत से पदार्थ बने थे तो बहुत सारे सुनामी में समुद्र के पानी में बह गए थे।

स्पेसशिप के कारण जिंदा होते डायनासोर

स्पेस एक्स और टेस्ला के मालिक एलन मस्क का कहान है कि अगर उस समय तक डायनासोर का इंसानों के स्तर का तकनीकी विकास हो पाता तो टकराव के बाद बचे हुए डायनासोर खुद को बचाने में सफल जरूर हो जाते। डायनासोर के एक मीम का जवाब देते हुए मस्क ने बताया कि अगर डायनासोर के पास केवल स्पेसशिप ही होते तो वे आज जिंदा होते। जहां कई लोगों को यह अजीब बात या मजाक लग सकता है, लकिन मस्क के द्वारा जताई गई संभावना में छिप सुझाव को आसानी से समझा जा सकता है कि हालात ठीक होने तक डायनासोर खुद को स्पेसशिप में रख कर उस समय के पर्यावरण के दुष्प्रभाव से बचा सकते थे। मस्क पहले ही मंगल पर इंसानों के बसाने की अपनी योजनाएं लोगों को बता चुके हैं।

Space, Elon Musk, Mars, Dinosaurs, Asteroid Strike, Cretaceous Era, Mass Extinction, Spaceships,

मंगल पर आत्मनिर्भर कॉलोनी

मस्क का मानना है कि अगले साढ़े पांच सालों में वे अपना यह सपना पूरा कर सकते हैं। लेकिन इससे डेडलाइन से पहले उनके मुताबिक बहुत से तकनीकी उपलब्धियां हासिल करनी होंगे। मस्क का जोर देकर कहना है कि मंगल पर हमें आत्मनिर्भर कॉलोनी बनानी होगी। उल्लेखनीय है कि अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने मंगल पर पहला मानव रखने का समय साल 2033 तक का रखा है। मस्क को अपनी इस महत्वाकांक्षी योजना का विरोध भी झेलना पड़ रहा है। उनके विरोधियों का मानना है कि मस्क को मंगल पर जाने की तैयारी से पहले पृथ्वी को बचाने के लिए काम करना जाहिए ना कि मंगल पर बस्ती बसाने की योजना पर। लॉस एंजेलिस की क्रिएटिव एजेंसी एक्टिविस्टा ने स्पेसएक्स के कैलिफोर्निया मुख्यालय के सामने एक बोर्ड में लिखा है कि मंगल निचोड़ लेता, लेकिन जो नहीं निचोड़ती है वह है पृथ्वी, लेकिन जिस तरह से हम उससे बर्ताव करते हैं वह जरूर निचोड़ लेता है।

बिल गोट्स ने किया विरोध

इसी तरह माइक्रोसॉफ्ट के पूर्व सीईओ बिल गोट्स का मानना ह कि मस्क का मंगल पर कॉलोनी बनाने का समाधान वास्तविक समाधान नहीं है। गेट्स का कहना था कि मंगल पर इंसान नहीं बल्कि रॉकेट समाधान हैं। गेट्स को लगता है कि इस मामले में दूसरे उद्योगको भी शामिल होना चाहिए। गेट्स कई बार कह चुके हैं कि वे रॉकेट में निवेश करने के बजाए किसी बीमारी के टीके में निवेश करना पसंद करेंगे। वैसे बहुत से वैज्ञानिकों का यह मानना है कि अगर डायनासोर महाविनाश के कुछ समय बाद कहीं रहकर वापस भी आते तो वे पृथ्वी के नए माहौल में जिंदा नहीं रह पाते। मस्क का मानना है कि एक दिन ऐसा अवश्य आएगा जब में पृथ्वी का विकल्प खोजना ही होगा और इसकी हमें पहले से तैयारी करनी होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022: भाजपा के पूर्व मंत्री दारा सिंह चौहान समाजवादी पार्टी में शामिल
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022: भाजपा के पूर्व मंत्री दारा सिंह चौहान समाजवादी पार्टी में शामिल