किसानों को मिलेगा नैनो प्रौद्योगिकी का फायदा : डॉ. हर्षवर्धन

नई दिल्ली। केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण व पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का कहना है कि नैनो प्रौद्योगिकी क्षेत्र में भारत दुनिया में तीसरे नंबर पर है और इसका इस्तेमाल कृषि के क्षेत्र में होने से देश के किसानों को इस प्रौद्योगिकी का फायदा मिलेगा।

डॉ. हर्षवर्धन और केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने संयुक्त रूप से आज नैनो आधारित कृषि इनपुट एवं खाद्य उत्पादों के मूल्यांकन के लिए गाइडलाइंस जारी किया।

गाइडलाइंस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के बायोटेक्नालोजी विभाग,भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण, केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय ने मिलकर तैयार की है। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि किसानों को नैनो प्रौद्योगिकी का भरपूर लाभ दिलाने मंे ये गाइडलाइंस सहायक होगी। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिकों को यह सुनिश्चित करना होगा कि किस तरह छोटे से छोटे किसानों तक इस प्रौद्योगिकी का लाभ पहुंचे।

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री तोमर ने बताया कि नैनो प्रौद्योगिकी का उपयोग करके इफको ने नैनो फर्टिलाइजर बनाया है, जिसका ट्रायल होने पर अच्छे नतीजे आए हैं। केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि कृषि में इस प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल होने से पैदावार बढ़ेगी, जिससे किसानों की आमदनी भी बढ़ेगी। तोमर ने कहा, प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य दिया है और इस दिशा में सभी प्रयत्न कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares