Rajasthan: कोविड मरीज को अब फ्री मिलेगी एबुंलेंस सेवा, किसी भी संक्रमित को भर्ती करने से मना नहीं कर सकेंगे अस्पताल - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया|

Rajasthan: कोविड मरीज को अब फ्री मिलेगी एबुंलेंस सेवा, किसी भी संक्रमित को भर्ती करने से मना नहीं कर सकेंगे अस्पताल

जयपुर। Free Ambulance Service: राजस्थान में कोरोना महामारी से कोरोना संक्रमित ( COVID Patient ) मरीज और उनके परिजनों को एंबुलेंस को लेकर हो रही परेशानी को दूर करने के लिए राजस्थान सरकार ने राज्य में कोरोना संक्रमित मरीज को भर्ती, रेफर या छुट्टी मिलने पर निशुल्क एंबुलेंस ( Free Ambulance ) सुविधा उपलब्ध करवाने का निर्देश दिया है. साथ ही, राज्य सरकार ने एक और महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए कहा है कि जिस मरीज को भर्ती करने की जरूरत होगी उसे कोई भी अस्पताल किसी भी स्थिति में भर्ती करने से मना नहीं कर सकता. मंगलवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( Ashok Gehlot ) ने इसके निर्देश चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को दिए हैं।

ये भी पढ़ें- Goa : कोरोना संक्रमितों के लिए Oxygen फिर बनी काल, सप्लाई रुकने से 26 मरीजों ने तोड़ा दम

आदेश के अनुसार, सभी जिलास्तरीय वार रूम के साथ-साथ प्रदेश में खंड स्तर पर स्थापित कोविड कन्सल्टेंशन सेंटर और कोविड केयर सेंटर पर भी मरीजों को भर्ती करने और डेडीकेटेड अस्पताल में रेफर करने के लिए पर्याप्त संख्या में एम्बुलेंस की उपलब्धता सुनिश्चित करने के आदेश दिए गए हैं। मरीजों के लिए यह एम्बुलेंस सुविधा निशुल्क रहेगी। एम्बुलेंस के रूप में जिले में उपलब्ध 108 और 104 सेवा के वाहनों का उपयोग किया जाएगा। आवश्यकता होने पर संबंधित जिला कलक्टर निजी एम्बुलेंस का अधिग्रहण करेंगे या फिर किराए पर भी संचालन करा सकेंगे।

ये भी पढ़ें- Corona infection को रोकने में योगी सरकार का प्रयास सराहनीय : राजनाथ सिंह

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर राज्य के चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग ने पूरे राज्य में कोरोना महामारी से संबंधित समस्याओं और परिवेदनाओं को एक ही टेलीफोन नंबर पर प्राप्त कर उनके समयबद्ध, त्वरित निस्तारण और रोगियों को आवश्यक सलाह तथा दवा आदि उपलब्ध कराने के लिए आदेश जारी किए हैं.

ये भी पढ़ें- WHO ने कहा – मरने वालों की लंबी है कतारें आंकड़े ना छुपाये सरकारें

इसके तहत मरीजों को कोविड समर्पित अस्पतालों, परामर्श व उपचार केन्द्रों, निजी चिकित्सालयों में बिस्तर, ऑक्सीजन सुविधा, वेंटीलेटर आदि की उपलब्धता की जानकारी दी जाएगी और मरीज को भर्ती करने, रेफर करने तथा छुट्टी देने पर एम्बुलेंस सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी. साथ ही, जरूरतमंद मरीज को किसी भी स्थिति में भर्ती करने से मना नहीं किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- Bihar के गांवों में पांव पसारता कोरोना का संक्रमण, सरकार के लिए चुनौती

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आदेश के अनुसार, इसके लिए सातों दिन-चैबीस घंटे राज्य स्तरीय वार रूम संचालित किया जा रहा है, जिसका हेल्पलाइन नंबर 181 है. साथ ही, सभी जिलों के प्रमुख कोरोना समर्पित अस्पतालों में भी इसी तरह के जिला स्तरीय वार रूम और हेल्पलाइन नंबर स्थापित करने के निर्देश दिए गए हैं.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
Cyclone tauktae : साइक्लोन ताउते ने बीग बी को किया आहत, ताऊ ते तूफान से अमिताभ बच्चन के जनक को हुआ भारी नुकसान.. स्टाफ मेंबर्स के शेल्टर भी उड़ गए
Cyclone tauktae : साइक्लोन ताउते ने बीग बी को किया आहत, ताऊ ते तूफान से अमिताभ बच्चन के जनक को हुआ भारी नुकसान.. स्टाफ मेंबर्स के शेल्टर भी उड़ गए