• डाउनलोड ऐप
Saturday, April 10, 2021
No menu items!
spot_img

Goa मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने दिया सख्त निर्देश, नियम तोड़ा तो लग सकता है कई बार जुर्माना

Must Read

पणजी। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए गोवा के मुख्यमंत्री Pramod Sawant ने आज कहा कि एजेंसियों को Corona से जुड़ी एसओपी का उल्लंघन करने के लिए लोगों पर एक दिन में कई बार fine लगाने का निर्देश दिया गया है। दरअसल मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर कोई व्यक्ति एक दिन में बार-बार एसओपी का उल्लंघन करता है तो उस पर एक से अधिक बार fine लगाया जा सकता है।

Pramod Sawant ने राज्य मंत्रिमंडल की एक बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि कोविड को नियंत्रित करने के लिए Lockdown लगाना कोई समाधान नहीं है। उन्होंने कहा कि Lockdown कोरोना वायरस के प्रसार को कम नहीं करता है, लेकिन राज्य की Economy पर एक काफी बुरा प्रभाव पड़ता है।

इसे भी पढ़ें – कोरोना के कारण मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ के बीच Bus Transport Service 15 अप्रैल तक स्थगित

Lockdown एक समाधान नहीं है। हम लोगों को परेशान नहीं करना चाहते हैं। पिछले Lockdown के बाद, हमें लेबर कैंप शुरू करना पड़ा और Economy शून्य पर पहुंच गई। राजस्व संग्रह कम हो गया।

Pramod Sawant ने कहा कि Lockdown से Corona में कमी नहीं आएगी। इसका समाधान टीकाकरण, सामाजिक दूरी, मास्क पहनना और सावधानियां बरतना है। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि मैंने पुलिस और कलेक्टर कार्यालय से कहा है कि अगर किसी व्यक्ति को सार्वजनिक स्थानों पर बार-बार उल्लंघन करते हुए (एसओपी) देखा जाता है, तो उस व्यक्ति पर एक से अधिक बार fine लगाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें – नक्सलियों ने बंधक जवान की तस्वीर जारी कर दी धमकी, बेटी ने कहा- प्लीज नक्सल अंकल, मेरे पापा को घर भेज दो

पुलिस को एक दिन में 500 से ज्यादा लोगों पर fine लगाने को कहा गया है। हाल ही में गोवा सरकार ने मास्क न पहनने का शुल्क 200 रुपये कर दिया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोवा में मंगलवार को कोरोना के 387 मामले दर्ज किए गए, जिनमें से 16 पर्यटक थे।

 

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा, कोरोना वायरस की दूसरी लहर चिंता का विषय

कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने आज Kovid-19 महामारी की दूसरी लहर पर गहरी चिंता व्यक्त की और केंद्र सरकार द्वारा बुनियादी आय समर्थन के लिए अपनी मांग भी दोहराई।

More Articles Like This