GST collection 1.31 lakh crore जीएसटी संग्रह 1.31 लाख करोड़ से ज्यादा
कारोबार | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| GST collection 1.31 lakh crore जीएसटी संग्रह 1.31 लाख करोड़ से ज्यादा

जीएसटी संग्रह 1.31 लाख करोड़ से ज्यादा

Pandora Papers Panama Papers

नई दिल्ली। दूसरी तिमाही में जीडीपी विकास दर 8.4 फीसदी रहने के आंकड़े के बाद वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी के मोर्चे पर भी सरकार को अच्छी खबर मिली है। सरकार ने नवंबर महीने का जीएसटी संग्रह का आंकड़ा जारी किया है, जिसके मुताबिक नवंबर में जीएसटी संग्रह एक लाख 31 हजार 526 करोड़ रुपए रहा। अक्टूबर के मुकाबले इसमें मामूली बढ़ोतरी दर्ज की गई है। अक्टूबर में यह 1.30 लाख करोड़ रुपए था। हालांकि त्योहारी सीजन की वजह से सरकार इससे बेहतर संग्रह की उम्मीद कर रही थी।

बहरहाल, देश में जीएसटी की व्यवस्था लागू होने के बाद ये दूसरा सबसे बड़ा संग्रह है। अब तक का सबसे ज्यादा जीएसटी कलेक्शन इसी साल अप्रैल में दर्ज किया गया। तब 1.41 लाख करोड़ रुपए का संग्रह हुआ था। हालांकि, सरकार को अनुमान था कि नवंबर में पिछला रिकार्ड टूट जाएगा और एक लाख 45 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का संग्रह हो सकता है। लेकिन राजस्व संग्रह उसके मुताबिक नहीं रहा।

नवंबर के जीएसटी संग्रह में सीजीएसटी यानी केंद्र का हिस्सा 23,978 करोड़ रुपए रहा। इंटीग्रेटेड जीएसटी का हिस्सा 66,815 करोड़ और राज्यों का हिस्सा यानी एसजीएसटी 31,127 करोड़ रुपए रहा। इंटीग्रेटेड जीएसटी में 32,165 करोड़ रुपए आयात का रहा, जबकि 9,607 करोड़ रुपए उपकर के रूप में रहा। अगर नवंबर के जीएसटी राजस्व की तुलना पिछले साल के नवंबर से करें तो उसमें 25 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। पिछले साल नवंबर में एक लाख चार हजार करोड़ रुपए की जीएसटी मिली थी। जबकि 2019 के नवंबर की तुलना में यह 27 फीसदी ज्यादा रहा।

इस बीच यह भी खबर है कि 27 नवंबर को होने वाली जीएसटी कौंसिल टल गई है। इस बैठक में जीएसटी की दर और इसके स्लैब में बदलाव का फैसला होना था। फिटमेंट कमेटी ने कई सिफारिशें इस मामले में की हैं। बहरहाल, सरकार को इस बात की चिंता है कि दिसंबर में जीएसटी वसूली कम हो सकती है क्योंकि नवंबर में ई-वे बिल कम जेनरेट हुआ है। नवंबर में हर दिन औसतन 18.76 लाख ई-वे बिल जेनरेट किए गए हैं, जबकि अक्टूबर में रोजाना 23.70 लाख बिल जेनरेट किया गया था।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पीएम मोदी को ऐलान! देश में हर साल 16 जनवरी को मनाया जाएगा ‘नेशनल स्टार्ट-अप डे’
पीएम मोदी को ऐलान! देश में हर साल 16 जनवरी को मनाया जाएगा ‘नेशनल स्टार्ट-अप डे’