nayaindia Gujrat election BJP गुजरात भाजपा में बगावत
kishori-yojna
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Gujrat election BJP गुजरात भाजपा में बगावत

गुजरात भाजपा में बगावत

अहमदाबाद। हिमाचल प्रदेश के बाद अब गुजरात में भाजपा के अंदर बगावत हो गई है। टिकटों की घोषणा के साथ ही पार्टी के कई नेताओं ने निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। पार्टी के दिग्गज नेता और छह बार विधायक रहे मधु श्रीवास्तव ने पार्टी छोड़ दी है और निर्दलीय लड़ने की घोषणा की है। भाजपा में आदिवासी समाज के बड़े नेता रहे हर्षद वसावा टिकट नहीं मिलने से नाराज हैं और उन्होंने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर पर्चा भर दिया है। पार्टी की ओर से टिकट नहीं दिए जाने से नाराज भाजपा के कम से कम एक मौजूदा विधायक और चार पूर्व विधायकों ने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है।

गौरतलब है कि गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए एक और पांच दिसंबर को दो चरणों में मतदान होगा और इसके लिए नामांकन का काम चल रहा है। भाजपा ने अभी तक कुल 166 सीटों के उम्मीदवारों का ऐलान किया है। टिकट नहीं मिलने से नाराज कुछ नेताओं ने कहा है कि वे अपने समर्थकों से सलाह करने के बाद अगला कदम उठाएंगे, लेकिन भाजपा के पूर्व विधायक हर्षद वसावा ने शुक्रवार को अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित नंदोड सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है।

हर्षद वसावा भाजपा की गुजरात इकाई के अनुसूचित जनजाति मोर्चा के अध्यक्ष हैं और वे 2002 से 2012 तक भाजपा के विधायक रहे हैं। नर्मदा जिले की नंदोड सीट पर फिलहाल कांग्रेस का कब्जा है। इस सीट से भाजपा ने डॉ दर्शन देशमुख को उतारा है। इस घोषणा से नाखुश हर्षद वसावा ने भाजपा में अपने पद से इस्तीफा दे दिया और शुक्रवार को नंदोड सीट के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। वसावा ने नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद कहा- यहां असली भाजपा और नकली भाजपा है। हम उन लोगों को बेनकाब करेंगे, जिन्होंने प्रतिबद्ध कार्यकर्ताओं को दरकिनार कर दिया है और नए लोगों को महत्वपूर्ण पद दे दिए। मैंने अपना इस्तीफा पार्टी को भेज दिया है।

वाघोडिया से छह बार के विधायक मधु श्रीवास्तव ने टिकट नहीं दिए जाने के बाद कहा कि अगर उनके समर्थक चाहते हैं तो वे निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ेंगे। भाजपा ने इस सीट से अश्विन पटेल को उतारा है। वडोदरा जिले की पादरा सीट से भाजपा के एक अन्य पूर्व विधायक दिनेश पटेल उर्फ दीनू मामा ने भी कहा है कि वे निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ेंगे। भाजपा ने इस सीट से चैतन्यसिंह जाला को टिकट दिया है।

उधर करजन में भाजपा के पूर्व विधायक सतीश पटेल मौजूदा विधायक अक्षय पटेल को टिकट देने के फैसले से नाराज हैं। भाजपा के बड़े नेता इस क्षेत्र में स्थिति संभालने के लिए दौरा कर रहे हैं। इस बीच, जूनागढ़ की केशोद सीट से भाजपा के पूर्व विधायक अरविंद लडानी ने शनिवार को ऐलान किया कि मौजूदा विधायक देवभाई मालम को टिकट दिए जाने के बाद वे निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × one =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पूर्वोत्तर में भाजपा को फायदा पहुंचाएंगी ममता
पूर्वोत्तर में भाजपा को फायदा पहुंचाएंगी ममता