Hindu families affected by terrorism also get similar facilities
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया| Hindu families affected by terrorism also get similar facilities

आतंकवाद पीड़ित हिन्दू परिवारों को भी मिले सिख दंगा पीड़ितों के समान सुविधाएं: हिंदू महासभा

अमृतसर। अखिल भारत हिंदू महासभा ने पंजाब में आतंकवाद के दौरान मारे गये हजारों हिंदुओं की याद में स्मारक बनाने की श्री दुर्गायाणा मंदिर प्रबंधक कमेटी के समक्ष पेशकश करने के साथ ही आतंकवाद पीड़ित हिंदू परिवारों को भी 1984 के सिख विरोधी दंगाें के प्रभावितों के समान आर्थिक सहायता एवं अन्य सुविधाएं मुहैया कराने की केंद्र और प्रदेश सरकारों से मांग की है।

इसे भी पढ़ें :- राम मंदिर को लेकर भड़काऊ बयानबाजी न करें नेता, प्रवक्ता : भाजपा

महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष गगन भाटिया के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने मंदिर प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष रमेश शर्मा से मुलाकात कर उनके समक्ष राज्य में आतंकवाद के दौरान मारे गये हजारों निर्दोष हिंदुओं और पुलिसकर्मियाें की याद में भव्य स्मारक बनाने सम्बंधी कमेटी द्वारा लिये गये फैसले को अंज़ाम तक पहुंचाने की पेशकश की। प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि मंदिर परिसर में स्मारक का निर्माण पूरा कर वह इसे कमेटी को सौंपने के लिए तैयार है।

प्रतिनिधिमंडल ने श्री दुर्गायाणा मंदिर के समस्त खजाने का ब्यौरा हिंदू समुदाय के समक्ष रखने तथा इसके मंदिर की वेबसाइट पर अपलोड करने की भी मांग की ताकि लोगों को इसकी जानकारी हो सके।  प्रतिनिधिमंडल ने कमेटी के साथ पंजाब में हिंदुओं को आ रही दिक्कतों को लेकर भी चर्चा की। महासभा ने यह भी कहा कि श्री दुर्गायाणा मंदिर कमेटी अगर यह स्मारक नहीं बनवा सकती तो महासभा स्वयं हिंदू समुदाय के सहयोग से इसका निर्माण कर श्री दुर्गायाणा तीर्थ को सौंपने के लिए तैयार है।

इसे भी पढ़ें :- पुलिस का ध्यान आकर्षित कर सकते हैं अयोध्या से जुड़े पोस्ट: डीजीपी

बैठक में यह तय हुआ कि अमृतसर शहर में लावारिस गायों के लिये श्री दुर्गायाणा कमेटी जल्द ही एक गउशाला का कर इनका संरक्षण करेगी। बैठक में राज्य में खालिस्तानी आतंवादियों द्वारा आतंकवाद के दौरान की हजारों हिंदुओं और पुलिसकर्मियों की हत्याओं के सम्बंध में इनके परिवारों को 1984 के दिल्ली सिख विरोधी दंगों की तर्ज पर आर्थिक सहायता और अन्य सुविधाएं देने को लेकर केंद्र और प्रदेश सरकारों के साथ बातचीत शुरू करने का भी फैसला लिया। बैठक में श्री दुर्गायाणा कमेटी के पदाधिकारियों के अलावा महासभा के प्रदेश शिव कुमार प्रेम तथा अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

Latest News

बूचड़खानों पर रोकः बुनियादी सवाल ?
उत्तराखंड की सरकार ने हरिद्वार में चल रहे बूचड़खानों पर रोक लगा दी थी। वहां के उच्च न्यायालय ने इस रोक को…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});