ताजा पोस्ट | देश | पश्चिम बंगाल

West Bengal Election Result 2021: ‘दीदी’ की जिद के आगे ‘मोदी सेना’ पस्त, BJP के दिग्गजों को उड़ा ले गई TMC की आंधी

नई दिल्ली। West Bengal Assembly Election Result 2021 : पश्चिम बंगाल में ‘दीदी’ की जिद के आगे ‘मोदी सेना’ पस्त हो गई. TMC की आंधी में BJP के बड़े-बड़े दिग्गज ने उड़ गए. ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) की ऐसी लहर चली की तृणमूल कांग्रेस ने इतिहास रच दिया. तृणमूल (TMC) की इस भारी जीत में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कई दिग्गज नेता जिनमें केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo), पूर्व राज्यसभा सांसद और कई फिल्मी सितारे अपनी सीट नहीं बचा पाए. सिर्फ  भाजपा के सांसद जगन्नाथ सरकार, शांतिपुर सीट बचा पाए हैं.

टीएमसी की आंधी में भाजपा के ये दिग्गज धराशाही
टीएमसी की आंधी में उड़ी भाजपा को सबसे बड़ी हार बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo) की ओर से मिली. कोलकाता की टॉलीगंज सीट से टीएमसी उम्मीदवार अरुप विश्वास के मुकाबले बाबुल सुप्रियो 50 हजार वोटों से हार गए. हुगली से सांसद व पूर्व अभिनेत्री लॉकेट चटर्जी को चुंचुड़ा सीट से हार का सामना करना पड़ा. चटर्जी को टीएमसी उम्मीदवार ने 18 हजार से अधिक वोटों से हराया. हुगली की तारकेश्वर सीट से पूर्व राज्यसभा सांसद स्वप्न दासगुप्ता 7 हजार वोटों से हारे.

इसे भी पढ़ें-  Tamil Nadu : DMK की 10 साल बाद सत्ता में वापसी, Udhayanidhi ने पहले ही चुनाव में 68,880 वोटों से हासिल की जीत

कोलकाता की रासबिहारी सीट पर बीजेपी के टिकट पर खड़े पूर्व सेना उपप्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल सुब्रत साहा (रिटायर्ड) को भी 21 हजार से ज्यादा वोटों से परास्त होना पड़ा. पूर्व मेदिनीपुर की मोयना सीट से बीजेपी के टिकट पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर अशोक डिंडा भी 9 हजार से ज्यादा वोटों से हार गए. बेहला पश्चिम सीट पर टीएमसी के पार्थ चटर्जी ने अभिनेत्री श्रवंती चटर्जी को 41,608 वोटों से षिकस्त दी. बेहला पूर्व सीट पर अभिनेत्री पायल सरकार को भी रत्ना चटर्जी से हार का मुंह देखना पड़ा. अभिनेता रूद्रनील भी 28 हजार से ज्यादा मतों से परास्त हो गए।

इसे भी पढ़ें-  विधानसभा चुनाव हारे सांसद क्या करेंगे?

ममता पर भारी पड़े शुभेंद हार गईं नंदीग्राम
सभी जगह चुनावों में TMC को भारी जीत दिलाने वाली टीएमसी की अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (cm mamta banerjee) अपनी नंदीग्राम सीट नहीं बचा सकी और उन्हें 1,956 वोटों से हार का मुंह देखना पड़ा. उन्हें BJP के प्रत्याशी शुभेंदु अधिकारी (shubhendu adhikari) से हार का सामना करना पड़ा. यहां टीएमसी ने मतगणना प्रक्रिया में धांधली का आरोप लगाते हुए वोटों की गिरती दोबारा करने की मांग की है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताजा पोस्ट | देश | राजनीति | राजस्थान

Ashok Gehlot के समर्थन में उतरे विधायकों की सियासी दांव खेलने की तैयारी! कल बुलाई बैठक

Rajasthan Political Drama

जयपुर | Rajasthan Political Drama : राजस्थान में चल रहा सियासी खेला अब अपने चरम पर आने लगा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और सचिन पायलट (Sachin Pilot) के बीच वर्चस्व की लड़ाई अब और तेज हो गई है। गहलोत और पायलट खेमा अब आमने-सामने होता नजर आ रहा है। ऐसे में गहलोत समर्थक विधायकों का गुट कल बुधवार को जयपुर  में बैठक करने जा रहा है।

ये भी पढ़ें:- BJP से जुड़ने का सर मुंडवा कर किया प्रायश्चित फिर गंगाजल से शुद्धि के बाद TMC में शामिल हुए 200 कार्यकर्ता

सियासी दांव खेलने की तैयारी! (Rajasthan Political Drama)
इसी के साथ राजस्थान में गहलोत और पायलट की वर्चस्व की लड़ाई में निर्दलीय विधायकों और बीएसपी विधायक भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। कांग्रेस में आए इन विधायकों ने कल बुधवार को एक बैठक आयोजित की है जिसमें वो अपनी आगे की रणनीति बनाने वाले हैं। इस खेमे में 13 निर्दलीय विधायक है और बीएसपी से कांग्रेस में आए 6 विधायक हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि राजस्थान में गरमाई राजनीति के बीच विधायकों का यह खेमा भी अपने सियासी दांव खेलने वाला है और कांग्रेस आलाकमान से गहलोत सरकार में अपनी भागीदारी की मांग उठा सकता है।

ये भी पढ़ें:- Punjab Politics : नवजोत सिंह सिद्धू के इस बयान से खासा नाराज हैं राहुल गांधी, कैप्टन को दी टीम संभालने की सलाह

निर्दलीय विधायक ने भी पायलट पर किए तीखें प्रहार
गहलोत-पायलट के बीच की जंग में अब निर्दलीय विधायक रामकेश मीणा भी कूद पड़े हैं। उन्होंने सीएम गहलोत का पक्ष लेते हुए सचिन पायलट पर कड़ा प्रहार किया है। रामकेश मीणा ने कहा कि सचिन पायलट जितने दिन राजस्थान में रहेंगे उतना ही कांग्रेस पार्टी को नुकसान होगा। कांग्रेस के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब कांग्रेस के अध्यक्ष ने ही अपनी सरकार गिराने के प्रयास किए हो। पायलट मुख्यमंत्री बनने की सोच रहे हैं लेकिन कांग्रेस को सबसे ज्यादा नुकसान पायलट नहीं ही पहुंचाया है

पायलट समर्थकों ने खोलो मोर्चा, कहा ‘पायलट आ रहा है’
राजस्थान की राजनीति अब पूरी तरह से गरमा गई है। सचिन पायलट के बगावती तेवरों को देखते हुए, सियासी गलियारों में कुछ भी हो सकता है। सचिन पायलट समर्थकों ने आज मंगलवार को सोषल मीडिया पर मोर्चा खोल दिया है। पायलट के समर्थक ट्विटर पर ‘पायलट आ रहा है’ (Pilot Aa Raha Hai) हैशटेग ट्रेंड करा रहे हैं। लोगों से इसे पूरा समर्थन मिल रहा है। ऐसे में गहलोत खेमे में अब खलबली मचने लगी है।

ये भी पढ़ें:- Rajasthan : जब सरकार नाचना चाहे, तो सरकारी गाइडलाइन की छोड़िए जनाब ! सांसद और विधायक ने जमकर लगाए ठुमके

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *