कोरोना से बचने के लिए घोड़े को दी जाने वाली दवा का इस्तेमाल कर रहे यहां के लोग - Naya India
ताजा पोस्ट | विदेश| नया इंडिया|

कोरोना से बचने के लिए घोड़े को दी जाने वाली दवा का इस्तेमाल कर रहे यहां के लोग

नई दिल्ली। कोरोना दुनिया पर इस तरह हावी हो चुका है कि इससे बचने के लिए लोग कुछ भी कर रहे हैं। ऐसे में फिलीपींस (philippines) से एक अलग ही मामला निकलकर सामने आया है। फिलीपींस में बढ़ते कोरोना संक्रमण (Covid 19) के चलते लोग घोड़े के लिए इस्तेमाल होने वाले ड्रग को कोरोना से बचाव की दवा समझकर इस्तेमाल कर रहे हैं। हालांकि फिलीपींस में इंसानों के लिए इस दवा को मंजूरी नहीं दी गई है।

वैक्सीन की कमी से लोगों में तनाव
फिलीपींस में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है और वैक्सीन की कमी निरंतर दिखाई दे रही है। वहीं फिलीपींस के कई अस्पतालों में लगातार मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे में महामारी को लेकर प्रशासन पर से लोगों का भरोसा उठने लगा है। लोग वैक्सीन को लेकर काफी तनाव में हैं और खुद ही उपाय आजमाते हुए किसी भी साइड-इफेक्ट्स की चिंता किए हुए ivermectin नाम के ड्रग को उपयोग कर रहे हैं। कई लोगों का मानना है कि इस दवा से वे कोरोना होने से अपने आपको बचा सकते हैं या फिर कोरोना संक्रमण से बेहतर ढंग से रिकवर हो सकते हैं। हालांकि फिलीपींस का प्रशासन इस ड्रग को लेकर चेतावनी भी जारी कर चुका है लेकिन इसके बावजूद सोशल मीडिया, चैट ग्रुप्स और ई-कॉमर्स साइट्स पर इस ड्रग का मार्केट जोरों पर है।

ये भी पढ़ें :- पवित्र कुरान से 26 आयतों को हटाने पर SC में  सुनवाई आज, मुस्लिम समाज में है वसीम रिजवी के खिलाफ आक्रोश

घोड़ों के लिए होती है इस्तेमाल
इस Ivermectin ड्रग को घोड़ों पर इस्तेमाल किया जाता है। जानकारी के अनुसार मार्च के महीने में इस ड्रग को लेकर फिलीपींस में 700 गुणा ज्यादा ऑनलाइन सर्च किया गया था। देश के कुछ नेता और सोशल मीडिया इंफ्लूएंजर्स भी इस ड्रग को कोरोना वैक्सीन के तौर पर प्रमोट कर रहे हैं। हालांकि, हेल्थ एक्सपर्ट ने इन दावों को सही नहीं बताया है।

ये भी पढ़ें :- अपने ही 3 बच्चों को मां ने चाकू घोंपकर किया मौत के हवाले, जानें क्या था कारण

ड्रग बेचना गैर-कानूनी
फिलीपींस में ये ड्रग इंसानों के इस्तेमाल के लिए रजिस्टर नहीं है। यानि इस ड्रग को बेचना फिलीपींस में गैर-कानूनी है। इस आइवरमेक्टिन ड्रग को बनाने वाली कंपनी मर्क ने भी कहा है कि वैज्ञानिकों ने इस दवा को कोरोना वैक्सीन के तौर पर सही नहीं पाया है फिर भी इस ड्रग की लोकप्रियता बढ़ती जा रही है। Ivermectin दवा के इस्तेमाल को लेकर अलग-अलग वर्जन का मौजूद होना भी बताया गया है। अमेरिका में इस दवा के एक वर्जन को इंसानों में ट्रॉपिकल डिजीज और स्पबम के इलाज के लिए एप्रूव किया गया है। कोरोना की बीमारी में इस दवा के इस्तेमाल की अनुमति नहीं है। वहीं फिलीपींस में इंसानों के लिए इस दवा को बिल्कुल भी मंजूरी नहीं दी गई है। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने इस दवा के साइड इफेक्ट्स भी जारी किए।

Latest News

बढ़ते पेट्रोल-़डीजल कीमतों पर संसद में बोले पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री- उत्पाद शुल्क लगाकर दे रहे हैं गरीबों को मुफ्त राशन और वैक्सीन
जवाब देते हुए पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि इन पर लगाये गये केंद्रीय उत्पाद शुल्क तथा…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});