विपक्ष अगर इस्तीफे पर अड़ा है तो फिर इससे कोई बातचीत नहीं: इमरान

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि अगर विपक्ष उनके इस्तीफे की मांग पर ही अड़ गया है तो फिर उससे कोई बातचीत संभव नहीं है। सुत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान के विपक्षी दल जमीयत उलेमाए इस्लाम-फजल (जेयूआई-एफ) के हजारों कार्यकर्ता अपने नेता मौलाना फजलुर रहमान के नेतृत्व में इस्लामाबाद में एक हफ्ते से धरने पर बैठे हुए हैं।

सरकार की तरफ से विपक्षी दल से बातचीत के लिए गठित समिति ने मसले के समाधान के लिए मौलाना फजल व अन्य नेताओं से कई दौर की बातचीत की है लेकिन नतीजा नहीं निकला है। रहमान ने साफ कर दिया है कि इमरान को इस्तीफा देना होगा। सुत्रों के मुताबिक उन्होंने तो यहां तक कहा है कि वह सरकारी समिति से बातचीत कर अपना टाइमपास कर रहे हैं।

सूत्रों ने बताया कि वार्ताकारों की समिति के सदस्यों ने प्रधानमंत्री इमरान खान से मिलकर जेयूआई-एफ नेताओं और सभी विपक्षी दलों को मिलाकर बनी रहबर समिति से हुई बातचीत और धरना समाप्त करने के लिए विपक्ष की शर्तो की जानकारी दी है। सूत्रों ने बताया कि इमरान ने कहा कि बार-बार इस्तीफे की ही बात हो रही है। अगर उनका इस्तीफा ही विपक्ष की एकमात्र मांग है तो फिर आगे किसी बातचीत की (विपक्ष के साथ) जरूरत नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares