2020 के आंकड़ों से डर गये तो रुकिए..पिक्चर अभी बाकी है मेरे दोस्त- WHO ने दुनिया को किया आगाह - Naya India
कोविड-19 अपडेटस | ताजा पोस्ट| नया इंडिया|

2020 के आंकड़ों से डर गये तो रुकिए..पिक्चर अभी बाकी है मेरे दोस्त- WHO ने दुनिया को किया आगाह

जिनेवा: देश सवा साल से कोरोना महामारी से जूझ रहा है। लगातार हालत और ज्यादा खराब होते जा रहे है। पिछले वर्ष मार्च 2020 में जब कोरोना के केस भारत में मिले थे और संख्या बढ़ने लगी तो भगवान का नाम लेकर 2020 को अलविदा किया था। और सोचा 2021 कुछ अच्छा लेकर आएगा। लेकिन जो हालात देखने को मिल रहे है इसे देखकर लगते है कि यह वर्ष उससे भी बुरा है। इन हालातों को देखकर WHO ने भी चेताया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने आगाह किया है कि कोरोना वायरस की महामारी पिछले साल के मुकाबले इस साल और ज्यादा घातक साबित होगी। WHO के महानिदेशक टेड्रोस एदानोम गेब्रेसस ने कहा कि हम कोरोना वायरस की इस महामारी को पिछले साल के मुकाबले इस बार ज्यादा जानलेवा होता हुआ देख रहे हैं।  WHO ने बताया है कि दुनिया भर में अब तक 33 लाख 46 हजार से ज्यादा लोग कोरोना के कारण जान गंवा चुके हैं।  उधर ओलंपिक के आयोजन को रद्द करने की मांग के बीच जापान ने देश में आपातकाल की अवधि बढ़ा दी है। जापान में कोरोना की चौथी लहर चल रही है।

इसे भी पढ़ें आइये जानते है आखिर क्या है ब्लैक फंगस? इससे बचने के लिए क्या करें और क्या नहीं..

जापान में लगा आपातकाल

WHO के महानिदेशक ने कहा कि महामारी से मौतों की तादाद काफी तेजी से बढ़ी है। जापान ने ओलंपिक के आयोजन के महज 10 हफ्तों पहले तीन और इलाकों में इमरजेंसी घोषित कर दी है। जबकि 3 लाख 50 हजार से ज्यादा हस्ताक्षरों वाले एक कंपेन में आयोजन को रद्द करने की मांग की गई है।टोक्यो और आसपास का इलाका तो मई के अंत तक आपातकाल के आदेश के तहत था, अब हिरोशिमा, ओकायामा, उत्तरी होक्काईदो को भी इसके दायरे में लाया गया है, जहां ओलंपिक मैराथन का आयोजन होना है।

जिंदगी की प्राथमिकता हो ना कि समारोह की..

गौरतलब है कि कोरोना की चौथी लहर के कारण जापान का मेडिकल तंत्र भी बेहद दबाव में है। जनता इस साल वहां ओलंपिक खेलों के आयोजन के खिलाफ आवाज उठा रही है। टोक्यो के गवर्नर पद के उम्मीदवार रह चुके केंजी सुनोमीया ने कहा कि हमें जिंदगी बचाने को प्राथमिकता देनी चाहिए, न कि समारोह को। समारोह तो बाद में भी कर सकते है लेकिन जिंदगी बाद में वापस नहीं आ पाएगी। उन्होंने शहर के प्रशासकों को साढ़े तीन लाख से ज्यादा हस्ताक्षर वाली याचिका सौंपी है।

राजधानी ताइपेई बार, डांस क्लब, नाइट क्लब बंद

ताइवान के लिए भी बुरी खबर है, ताइवान की राजधानी में सभी मनोरंजन स्थल अनिश्चितकाल काल के लिए बंद कर दिए गए हैं। लाइब्रेरी और खेलकूद के केंद्र भी बंद हैं। यहां पायलटों में कोरोना का संक्रमण मिला है, जिसके बाद सरकार चौकन्ना हो गई है। ताइवान में अभी तक कोरोना के महज 1290 मामले सामने आए हैं और सिर्फ 12 मौतें हुई हैं। राजधानी ताइपेई में शनिवार से बार, डांस क्लब, कराओके लाउंज, नाइट क्लब, इंटरनेट कैफे समेत सभी प्रकार के मनोरंजन स्थलों पर ताले लग जाएंगे। उधर भारत में कोरोना के रोजाना 3.5 से 4 लाख केस सामने आ रहे हैं, जबकि रोजाना मौतों का आंकड़ा भी चार हजार के करीब है। भारत ने वैक्सीन की किल्लत को देखते हुए रूस की स्पूतनिक वी वैक्सीन से भी टीकाकरण की शुरुआत कर दी है।

भारत में कोरोना की तस्वीर

भारत में कोरोना की हालत इतनी खराब है कि इसे देखकर हर भारतीय का दिल पसीज रहा है। लाशों का समुद्र, गंगा नदी में तैरती लाशें, ऑक्सीजन के लिए भीग मांगते मरीज, बैड और वेंटिलेटर के लिए तड़पते मरीज ये भयावह मंजर देखकर सबकी हालत खराब हो रही है। यहां तक की कोरोना के मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए शमशान घाट में भी जगह नहीं मिल रही है। भारत में कोरोना का पीक आना अभी शेष है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक अब कोरोना के केस हो रहे है। इस पर विशेषज्ञों का कहना है कि टेस्टिंग सही नहीं हो रही है सही टेस्टिंग के आधार पर सहीं आंकड़े भी आ जाएंगे।

Latest News

नहीं निकलती सरकारी नौकरी तो मिलिए 2 भाइयों की जोड़ी से, अब तक 16 बार हो चुका है चयन…
नई दिल्ली । Government job Cracked 11 times: गरीब और मध्यमवर्गीय परिवार के लिए सरकारी नौकरी का कितना महत्व है या बात…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});