• डाउनलोड ऐप
Wednesday, May 12, 2021
No menu items!
spot_img

IIT ने गिरफ्तार छात्र को किया निलंबित, नशीला पदार्थ मिलाकर की थी छेड़खानी

Must Read

Guwahati: IIT गुवाहाटी ने सोमवार को जारी बयान में कहा कि ये पाया गया है कि छात्र ने यह गंभीर अपराध किया है. जिसके कारण तीन अप्रैल को उसे गिरफ्तार किया गया. संस्थान ने छात्र को अनुशासन समिति की सिफारिश पर विद्यार्थी को चार अप्रैल से निलंबित कर दिया. जानकारी के अनुसार घटना में शामिल होने के आरोपी चार अन्य छात्रों के खिलाफ पुलिस जांच कर रही है. संस्थान के परिसर में इन सभी को एक दूसरे से अलग-थलग रखा गया है और आंतरिक जांच के साथ आगे की पुलिस कार्रवाई के लिए उन्हें फिर से बुलाया जायेगा. बयान में कहा गया है, ‘‘संस्थान ऐसे घृणित कृत्यों की कड़ी निंदा करता है और परिसर में छात्राओं के यौन उत्पीड़न के मामले में पुलिस जांच में सहयोग कर रहा है.’’

भविष्य के लिए भी सुरक्षा के उपाय बढ़ाए

जारी किये गये आदेश में कहा गया है कि इस तरह के कृत्य संस्थान के अनुशासन नियमों का गंभीर उल्लंघन हैं. सुरक्षा से समझौता करना है तथा संस्थान के माहौल को बिगाड़ने वाला है. संस्थान ने ऐसी घटनाओं को भविष्य में होने से रोकने के लिए सुरक्षा उपाय बढ़ा दिये हैं. IIT ने दावा किया कि मीडिया का एक वर्ग घटना और संस्थान को लेकर ‘अपुष्ट खबरें दे रहा है कि गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती पीड़िता को डॉक्टरों की सलाह के बगैर अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी. यह एक संवेदनशील मामला है. मीडिया से अनुरोध है कि वह जिम्मेदारी के साथ रिपोर्टिंग करे और मामले को सनसनीखेज बनाने से बचे.
इसे भी पढ़ें – Maharashtra Home Minister Anil Deshmukh ने उद्धव ठाकरे को सौंपा इस्तीफा, High Court ने दिए थे CBI जांच के आदेश

29 मार्च को छात्रा से छेड़खानी के आरोप में किया गया था गिरफ्तार

पुलिस अधिकारी के अनुसार शिकायतकर्ता छात्रा गुजरात से है. उसने अपने बयान में दावा किया कि 29 मार्च को होली के उत्सव के दौरान IIT के छात्रावास में आरोपी ने उसके पेय पदार्थ में नशीली दवा मिला दी और उससे छेड़खानी की थी. आरोपी मेकैनिकल इंजीनियरिंग विभाग का छात्र है. छात्रा ने कहा कि पेय पदार्थ पीने के बाद वह बेहोश हो गयी थी. घटना की जानकारी मिलने के बाद संस्थान के अधिकारी छात्रा को गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले गये और बाद में पुलिस से संपर्क किया.

इसे भी पढ़ें – Bombay High Court ने कहा गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगाए आरोप गंभीर, CBI जांच करे, EX CM देवेन्द्र फड़नवीस बोले इस्तीफा दो

छात्रा की हालत में तेजी से हो रहा है सुधार

छात्रा के बयान के आधार पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया था. इसके बाद आरोपी को अमीनगांव के सीजेएम की अदालत में पेश किया गया. जिसने उसे जेल भेज दिया. छात्रा अब खतरे से बाहर है और उसकी हालत में तेजी से सुधार हो रहा है.

इसे भी पढ़ें – यहां खुला कचरा बैंक, प्लास्टिक के कचरे से लेन-देन और पैसों से भरेगा आपकी जेब, जानें कैसे

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

कांग्रेस के प्रति शिव सेना का सद्भाव

भारत की राजनीति में अक्सर दिलचस्प चीजें देखने को मिलती रहती हैं। महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार में...

More Articles Like This