India-China military meeting भारत-चीन के सैन्य कमांडरों की बैठक बेनतीजा
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| India-China military meeting भारत-चीन के सैन्य कमांडरों की बैठक बेनतीजा

भारत-चीन के सैन्य कमांडरों की बैठक बेनतीजा

china new border law

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच पिछले डेढ़ साल से चल रहे सैन्य गतिरोध को खत्म करने के लिए बुधवार को हुई 14वें दौर की सैन्य वार्ता बेनतीजा रही है। सीमा के दूसरी तरफ चीन की साइड चुशुल मोल्डो में करीब 12-13 घंटे तक चली वार्ता के बाद दोनों पक्षों ने सिर्फ इतना कहा है कि पहले हुई वार्ता के नतीजों को आगे बढ़ाना है और उन्हें मजबूत करना है। साथ ही यह भी कहा गया कि जल्दी ही दोनों पक्ष फिर से वार्ता करने पर सहमत हुए हैं। गौरतलब है कि 13वें दौर की वार्ता भी बेनतीजा रही थी। दोनों पक्ष अभी हॉट स्प्रिंग से सैनिकों की वापसी के मसले पर वार्ता कर रहे हैं।

दोनों पक्षों की ओर से जारी बयान से साफ हो रहा है कि वार्ता आगे नहीं बढ़ी है। इसमें कहा गया है कि दोनों देश पिछले परिणामों को और मजबूत करेंगे। हालांकि दोनों देश संपर्क बनाए रखने और बाकी मुद्दों के आपसी सहमति से सुलझाने के लिए बातचीत जारी रखने पर सहमत हुए हैं। इससे पहले बुधवार को भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे के बयान से ही जाहिर हो गया था कि वार्ता से कोई खास उम्मीद नहीं है। उन्होंने कहा था कि वार्ता चल रही है लेकिन भारत अपनी तैयारियां भी जारी रखे हुए है।

बहरहाल, बुधवार को हुई सैन्य कमांडर स्तर की वार्ता को लेकर गुरुवार को जो बयान जारी किया गया उसके मुताबिक दोनों देशों ने कहा कि वे इस बात पर सहमत हैं कि उन्‍हें अपने नेताओं की ओर से दिए गए मार्गदर्शन का पालन करना चाहिए और बाकी मुद्दों के समाधान के लिए काम करना चाहिए। बयान के मुताबिक ऐसा करना पश्चिमी क्षेत्र में एलएसी के साथ शांति बहाल करने में मदद करेगा और दोपक्षीय संबंधों में प्रगति लाएगा।

बयान में बताया गया है कि दोनों पक्ष पिछले नतीजों पर काम करने और पश्चिमी क्षेत्र में सुरक्षा और स्थिरता बनाए रखने के लिए प्रभावी प्रयास करने पर भी सहमत हुए हैं। दोनों देश निकट संपर्क में रहने और सैन्य व राजनयिक चैनलों के जरिए बातचीत जारी रखने और बचे हुए मुद्दों के साझा रूप से स्वीकार्य समाधान पर काम करने पर सहमत हुए हैं। बयान में कहा गया है कि दोनों देश इस बात पर सहमत हुए कि सैन्य कमांडरों की अगले दौर की वार्ता भी जल्दी होनी चाहिए।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
कोरोना ने फिर बढ़ाई मुसीबत, उत्तर प्रदेश कोविड -19 प्रतिबंध के कारण स्कूल और कॉलेज 23 जनवरी तक बंद
कोरोना ने फिर बढ़ाई मुसीबत, उत्तर प्रदेश कोविड -19 प्रतिबंध के कारण स्कूल और कॉलेज 23 जनवरी तक बंद