nayaindia भारत ने सभी पड़ोसी देशों के लोगों को वुहान से लाने की पेशकश की थी : जयशंकर - Naya India
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया|

भारत ने सभी पड़ोसी देशों के लोगों को वुहान से लाने की पेशकश की थी : जयशंकर

नई दिल्ली। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने आज कहा कि भारत ने कोरोना वायरस से प्रभावित चीन के वुहान प्रांत से भारतीयों के साथ साथ सभी पड़ोसी देशों के लोगों को लाने की पेशकश की थी लेकिन केवल मालदीव ने ही अपने 7 छात्रों को लाने का अनुरोध किया था।

उन्होंने कहा कि वुहान में अभी भी 80 भारतीय छात्र हैं जिनमें से 70 ने उस समय अपनी मर्जी से आने से मना कर दिया था जबकि 10 छात्रों को बुखार होने के कारण चीनी अधिकारियों ने आने की अनुमति नहीं दी थी।

श्री जयशंकर ने शुक्रवार को राज्यसभा में सदस्यों के सवालों के जवाब में कहा कि भारतीय छात्रों को लेने के लिए जब एयर इंडिया की दो उडान वुहान भेजी गयी थी उस समय वहां फंसे पड़ोसी देशों के लोगों को भी इस उडान में आने की पेशकश की गयी थी। उन्होंने कहा कि केवल मालदीव ने ही इसके जवाब में अपने सात छात्रों को लाने का अनुरोध किया था।

उनसे पूछा गया था कि क्या भारत वुहान में फंसे पाकिस्तान के छात्रों को भी लेकर आयेगा। जयशंकर ने कहा कि भारत के 80 छात्र अभी भी वुहान में हैं। इनमें से 70 छात्रों ने अपनी मर्जी से इन उडानों में आने से मना कर दिया था। दस छात्र देश आने के लिए वुहान हवाई अड्डे पर आये थे लेकिन उन्हें बुखार होने के कारण चीनी अधिकारियों ने आने की अनुमति नहीं दी थी। उन्होंने कहा कि बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास इन छात्रों के संपर्क में है और इनके स्वास्थ्य के बारे में सभी जरूरी कदम उठाये जा रहे हैं। उन्होंने इन छात्रों के परिजनों को आश्वस्त किया कि उनकी अच्छी देखभाल की जा रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

4 × five =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
ममता के 25 विधायकों पर तलवार
ममता के 25 विधायकों पर तलवार