पंजाब के पाँच जिलों में इंडिया हाइपरटैंशन कंट्रोल इनीशिएटिव की शुरुआत

चंडीगढ़। उच्च रक्तचाप के मरीजों की जल्द पहचान और उनके इलाज के लिए पंजाब स्वास्थ्य विभाग ने विश्व स्वास्थ्य संगठन, भारत सरकार और इंडियन कौंसिल ऑफ

मैडीकल रिर्सच के सहयोग से राज्य के पाँच जिलों बठिंडा, होशियारपुर, गुरदासपुर, पठानकोट और मानसा में इंडिया हाईपरटैंशन कंट्रोल इनीशिएटिव (आई.एच.सी.आई.) की शुरूआत की है।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने आज यहां बताया कि इस प्रोजैक्ट का प्रारंभिक उद्देश्य उच्च रक्तचाप के मामलों की जल्द पहचान करके मरीजों

को इलाज मुहैया करवाना और इससे होने वाली मृत्यु दर को घटाना है। स्क्रीनिंग प्रोग्राम के अंतर्गत दिसंबर 2019 तक हाइपरटेंशन के 80हजार मामलों की जांच की गई। डॉक्टरों, स्टाफ नर्सें, ए.एन.ऐमज़, आशा को इसके मरीज़ों की जांच कर जल्द से जल्द इलाज शुरू करने के लिए प्रशिक्षण दिया गया है।

सिद्धू ने बताया कि यह प्रोग्राम भारत सरकार के पांच राज्यों पंजाब, केरल, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और तेलंगाना में शुरू किया गया है। कैंसर, शुगर, दिल की बीमारियाँ और स्ट्रोक (एन.पी.सी.डी.सी.एस.) की रोकथाम और नियंत्रण के लिए राष्ट्रीय प्रोग्राम के हिस्से के तौर पर इस

प्रोजैक्ट की शुरूआत करने वाला पंजाब पहला राज्य है। पिछले दो सालों में स्क्रीनिंग प्रोग्राम के सफलतापूर्वक लागू होने के बाद अब पंजाब सरकार ने राज्य भर में इस प्राजैक्ट को लागू करने का फ़ैसला किया है। उन्होंने कहा कि नये जिलों में स्टाफ का प्रशिक्षण फरवरी से शुरू होकर मार्च 2020 के अंत तक चलेगा। यह प्रोग्राम अप्रैल 2020 तक राज्य भर में लागू हो जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares