Corona ने सिखाई एकजुटता, पाकिस्तान में भारत के कोरोना हालातों पर संवेदनाएं कर रही है Trend - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | विदेश| नया इंडिया|

Corona ने सिखाई एकजुटता, पाकिस्तान में भारत के कोरोना हालातों पर संवेदनाएं कर रही है Trend

New Delhi: भारत-पाकिस्तान की सरकारों के बीच भले ही कितना विवाद क्यों न हो. लेकिन अक्सर ऐसा देखा गया है कि दोनों देशों की आवाम एक दूसरे के लिए अपना प्यार जाहिर करती रही है. एक बार फिर भारत में कोरोना के कहर और ऑक्सीजन की किल्लत को देखते हुए पाकिस्तान के लोगों का भारतीयों के प्रति प्रेम सामने आया है. पाकिस्तान की आवाम ने प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को भारत की मदद करने की अपील की है. पाकिस्तान के ट्विटर हैंडल पर तेजी से  #इंडियन लाइव्ज मैटर, #पाकिस्तानस्टैंडविदइंडिया, #इंडियानीडऑक्सिजन, #पाकिस्तानविदइंडिया जैसे  #trend कर रहे हैं. इतना ही नहीं पाकिस्तान के समाजसेवी अब्दुल सत्तार इडी के बेटे फैसल इदी में भी प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है और भारत में बढ़ते कोरोना संक्रमण मामलों पर चिंता जताई है इसके साथ ही उन्होंने हर संभव मदद का भी ऐलान किया है.

50 एम्बुलेंस भेजने का प्रस्ताव

फैसल ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखे गए अपने खत में लिखा है कि हम इस मुश्किल की घड़ी में भारत के साथ हैं. उन्होंने लिखा कि कोरोना देश की सीमाओं को नहीं देखता. ऐसे में अगर भारत सरकार हमें किसी भी काबिल समझे तो यह हमारे लिए खुशनसीबी की बात होगी. फैजल ने भारत की स्थिति पर संवेदना व्यक्त करते हुए 50 एंबुलेंस भेजने की बात भी लिखी है. पाकिस्तान की मीडिया में भारत में कोरोना के कहर की खबर को लगातार दिखाया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- Delhi High Court ने फिर दिखाए कड़े तेवर कहा-ऑक्सीजन आपूर्ती में बाधा उत्पन्न करने वाले व्यक्ति को ‘लटका देंगे’

आवाम हमेशा दिखाता रहा है अपनापन

भारत और पाकिस्तान के बीच के हालात काफी पुराने समय से अच्छे नहीं हैं.  इसके बाद भी दोनों देशों के लोगों में कोई टकराव देखा नहीं जाता अक्सर सुनने को मिलता है कि जब कोई पाकिस्तानी भारत आता है या फिर जब कोई भारतीय पाकिस्तान जाता है तो दोनों ही जगह के लोग अपनी मेहमान नवाजी में कोई कमी नहीं छोड़ते हैं.  ऐसे में पाकिस्तान के सोशल मीडिया पर भारत के लोगों की चिंता करना भी कोई बड़ी बात नहीं दिखती. दोनों देश आपस में हमेशा कश्मीर मुद्दे पर अलग-अलग राग अलापते हों लेकिन दोनों देश की आवाम आज भी अमन पसंद करती है.

इसे भी पढ़ें-  Corona Crisis: अमेरिका ने फिर दिखाया कि वह दोस्त नहीं एक व्यापारी देश है, भारत सरकार को भी मिला सबक

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});