शीत लहर की चपेट में जम्मू-कश्मीर, लद्दाख

श्रीनगर। आसमान में छाए बादलों के कारण जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में रात के तापमान में आंशिक रूप से सुधार हुआ है, लेकिन दोंनो केंद्र शासित प्रदेशों में शीत लहर जारी है।

न्यूनतम तापमान में मामूली सुधार के बावजूद रविवार को घाटी और लद्दाख में तीव्र शीत लहर शुरू हो गई है। श्रीनगर की प्रसिद्ध डल झील के कुछ हिस्से जम गए हैं जिससे झील के ऐसे हिस्सों में नावें खड़ी करना मुश्किल हो गया है।

मौसम विभाग ने सोमवार और मंगलवार को जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में हल्की बारिश या बर्फबारी होने का अनुमान लगाया है। श्रीनगर में न्यूनतम तापमान माइनस 6.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कल के माइनस 6.6 से कुछ बेहतर था।

विभाग के अधिकारी ने कहा, “पहलगाम और गुलमर्ग में क्रमश: माइनस 7.7 और माइनस 7.5 तापमान रहा, जो कल के माइनस 9.5 और माइनस 9.2 से बेहतर था।

लद्दाख के लेह शहर में माइनस 17.0, कारगिल में माइनस 20.0 और द्रास में माइनस 27.3 न्यूनतम तापमान रहा। वहीं जम्मू में न्यूनतम तापमान 4.2, कटरा में 5.8, बटोटे में 2.3, बनिहाल में 0.6 और भद्रवाह में माइनस 2.6 तापमान दर्ज हुआ।

40 दिन की कठोर सर्दी की अवधि ‘चिल्लई कलां’ सोमवार से शुरू होने वाली है जो 31 जनवरी तक रहेगी। इस दौरान होने वाली बर्फबारी से ही पहाड़ों में बारहमासी पानी के जलाशय भरते हैं। जो गर्मियों में पिछलकर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की विभिन्न नदियों, झरनों और झीलों में पहुंचते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares