झारखंड चुनाव : कांग्रेस-झामुमो गठबंध सरकार बनाने की ओर - Naya India
ताजा पोस्ट | दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 | देश | बिहार| नया इंडिया|

झारखंड चुनाव : कांग्रेस-झामुमो गठबंध सरकार बनाने की ओर

नई दिल्ली। झारखंड में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को झटका मिल सकता है। झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो)-कांग्रेस गठबंध 42 विधानसभा सीटों पर आगे चल रहा है। जो सरकार बनाने के लिए जादुई आंकड़ा है। जहां एक ओर झामुमो-कांग्रेस-राजद (राष्ट्रीय जनता दल) पूर्ण रूप से बढ़त बनाए हुए हैं, वहीं भाजपा 29 सीटों पर आगे है।

खुद मुख्यमंत्री रघुबर दास अपने विधानसभा क्षेत्र जमशेदपुर पूर्व से साढ़े चार हजार से अधिक मतों से पीछे चल रहे हैं। चुनाव आयोग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, 81 सीटों वाली विधानसभा में झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंध आधे पर बढ़त बनाए हुए है। हेमंत सोरेन के नेतृत्व वाली झामुमो 24 सीटों, कांग्रेस 14 और राजद 5 सीटों पर आगे चल रहीं है। गठबंध के जीतने पर हेमंत सोरेन मुख्यमंत्री बन सकते हैं। यहां कांग्रेस मुख्यालय में जश्न की तैयारियों के बीच कार्यकर्ता मिठाई बांट रहे हैं। झारखंड के मुख्यमंत्री राघुबर दास ने सोमवार सुबह कहा कि भाजपा राज्य की सत्ता में वापस आएगी और शुरुआती रुझानों में प्रतिक्रिया देना जल्दबाजी होगी। दास ने पत्रकारों से बात करते हुए यहां कहा मुझे पूरा विश्वास है कि हम जीत रहे हैं और भाजपा के नेतृत्व में राज्य में पुन: सरकार का गठन किया जाएगा।

जहां भाजपा बैकफुट पर खड़ी है, वहीं कांग्रेस जोर देकर कह रही है कि झारखंड की जीत से यह पता चलता है कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और अनुच्छद 370 पर भाजपा की राष्ट्रीय रिवायत को लोगों ने ठुकरा दिया है। कांग्रेस सचिव प्रणव झा ने कहा लोगों ने अनुच्छद 370, सीएए और एनआरसी जैसी राष्ट्रीय रिवयत को छोड़कर स्थानीय मुद्दों के लिए वोट किया है। उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों ने स्थानीय मुद्दों जैसे मंहगाई और बेरोजगारी पर अपना मत दिया है।

इसे भी पढ़ें : झारखंड की 8 सीटों पर चल रहा कांटे का मुकाबला

किसी बात की प्रतिक्षा नहीं करते हुए और भाजपा को कोई मौका नहीं देते हुए कांग्रेस ने भाजपा की पूर्व सहयोगी झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) से संपर्क किया है। बाबूलाल मरांडी की पार्टी चार सीटों पर आगे चल रही है। सूत्रों ने कहा है कि झाविमो ने अभी तक कांग्रेस नेताओं को किसी प्रकार का कोई आश्वासन नहीं दिया है, लेकिन इतना जरूर कहा है कि अंतिम परिणाम आने के बाद पार्टी बातचीत करेगी। झारखंड में प्रमुख सीटों की लड़ाई में मुख्यमंत्री रघुबर दास को जमशेदपुर पूर्व सीट में अपने पूर्व प्रतिष्ठित सहयोगी और निर्दलीय उम्मीदवार सरयू राय के साथ कड़ी लड़ाई का सामना करना पड़ रहा है।

सरयू राय दास से एक हजार से अधिक मतों से आगे चल रहे हैं। धनवार निर्वाचन क्षेत्र में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्‍ससिस्ट-लेनिनिस्ट) के राज कुमार यादव से झारखंड विकास मोर्चा (पी) के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी 10, 252 वोटों से आगे चल रहे हैं। झारखंड के सिल्ली निर्वाचन क्षेत्र में पूर्व उप-मुख्यमंत्री और ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन पार्टी (आजसू) के अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) की सीमा देवी से 6,032 मतों के अंतर से आगे चल रहे हैं। झामुमो की उम्मीदवार सीमा देवी को जहां 17,232 मत मिले हैं, वहीं सुदेश महतो जहां 23,264 मतों के साथ बढ़त बनाए हुए हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
Rajasthan सीएम Ashok Gehlot आज जा रहे दिल्ली, सियासी संग्राम के बीच मंत्रिमंडल फेरबदल पर होगी Sonia Gandhi से मुलाकात!
Rajasthan सीएम Ashok Gehlot आज जा रहे दिल्ली, सियासी संग्राम के बीच मंत्रिमंडल फेरबदल पर होगी Sonia Gandhi से मुलाकात!