nayaindia Amit Shah election campaign कैराना में घर घर घूमे अमित शाह
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Amit Shah election campaign कैराना में घर घर घूमे अमित शाह

कैराना में घर घर घूमे अमित शाह

Amit Shah election campaign

कैराना। भाजपा के स्टार प्रचारक और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शनिवार को उत्तर प्रदेश में चुनाव प्रचार में उतरे। सबसे पहले वे सांप्रदायिक रूप से सर्वाधिक संवेदनशील माने जा रहे कैराना गए और वहां घर घर घूम कर भाजपा के लिए प्रचार किया। चुनाव आयोग ने डोर टू डोर प्रचार में भी सीमित संख्या में लोगों को शामिल होने की इजाजत दी है लेकिन अमित शाह के घर घर प्रचार में बड़ी संख्या में लोग जुटे। उन्होंने कैराना से कथित तौर पर पलायन कर गए और भाजपा का राज आने के बाद वापस लौटे हिंदू परिवारों से भी मुलाकात की।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पलायन के मुद्दे को लेकर सुर्खियों में रहे कैरान में अमित शाह ने डोर टू डोर प्रचार किया। उन्होंने लोगों से भाजपा के लिए वोट करने की अपील की, अपने हाथों से  पर्चे बांटे और सबका अभिवादन किया। अमित शाह के साथ पार्टी के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में जुट गए और एक जुलूस की शक्ल में कैराना की गलियों में घूमे। अमित शाह साधु स्वीट शॉप के मालिक राकेश गर्ग की दुकान पर पहुंचे और उनसे बात की।

Read also मुंबई में भीषण आग, छह की मौत

बाद में अमित शाह ने कहा- हमने यहां के लोगों से बात की, उनमें सुरक्षा और आत्मविश्वास का भाव दिखा। लोगों ने कहा कि बेहतरीन कानून व्यवस्था के कारण वो अब सुकून से यहां रह रहे हैं। उन्होंने कहा- पलायन की बात करने वाले आज खुद कैराना से पलान कर गए हैं।  बताया जाता है कि कैराना से हिंदुओं के पलायन के वक्त राकेश गर्ग भी शहर छोड़ कर चले गए थे, लेकिन अब वे वापस लौट आए हैं।

अमित शाह को कैराना जनसभा भी करनी थी लेकिन उन्होंने जनसभा स्थगित कर दी। कैराना से वे सीधे शामली में पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक में शामिल होने के लिए निकल गए। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के प्रभारी महासचिव और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके अमित शाह इस बार पश्चिमी उत्तर प्रदेश और ब्रज क्षेत्र के प्रभारी के तौर पर पार्टी को चुनाव लड़वा रहे हैं। पहले चरण में इस क्षेत्र में मतदान है और इसी इलाके से पूरे राज्य की हवा तय होनी है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

13 + eighteen =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
विपक्षी राज्यों में करना चाहिए शिविर
विपक्षी राज्यों में करना चाहिए शिविर