nayaindia killers in NIA custody एनआईए की हिरासत में हत्यारे
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| killers in NIA custody एनआईए की हिरासत में हत्यारे

एनआईए की हिरासत में हत्यारे

जयपुर। उदयपुर में हिंदू दर्जी कन्हैया लाल की गला काट कर हत्या करने वाले दोनों आरोपियों को जयपुर की एक अदालत ने 10 दिन के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी, एनआईए की हिरासत में भेज दिया है। मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद नाम ने 28 जून को कन्हैया लाल की दुकान में घुस कर उसकी हत्या की थी। इन दोनों को पुलिस ने उसी दिन गिरफ्तार कर लिया था। बाद में दो और आरोपी- आसिफ हुसैन और मोहसिन खान को गिरफ्तार किया गया। इन चारों को शनिवार को एक जयपुर की एक नंबर अदालत में पेश किया गया।

अदालत ने आरोपियों को 10 दिन के लिए एनआईए की हिरासत में भेजने का आदेश दिया। गौरतलब है कि घटना के अगले ही दिन एनआईए ने इस मामले की जांच अपने हाथ में ले ली थी और आतंकी कार्रवाई के पहलू से भी इसकी जांच कर रही है। घटना के तुरंत बाद राजस्थान पुलिस की विशेष जांच टीम, एसआईटी इस मामले की जांच कर रही थी। एसआईटी ने सारे जरूरी दस्तावेज और जांच में मिले सबूत एनआईए को सौंप दिए हैं।

सुरक्षा के लिहाज से पुलिस रियाज और गौस का चेहरा ढक कर और कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के साथ अदालत में ले गई थी लेकिन वकीलों को उनके बारे में पता था। आरोपियों के कोर्ट परिसर में पहुंचने पर वकीलों ने जमकर नारेबाजी की और आरोपियों को फांसी देने की मांग की। वकीलों ने आरोपियों के ऊपर हमला भी कर दिया और उनके साथ मारपीट की। बताया जा रहा है कि वकीलों के हमले में आरोपियों के कपड़े फट गए।

गौरतलब है कि 48 साल के कन्हैया लाल की 28 जून को दो लोगों ने हत्या कर दी थी। उन्होंने इस वारदात का वीडियो भी बनाया था। हत्या करने वाले रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद ने हत्या का वीडियो शेयर किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाने की धमकी भी दी। इन दोनों को 28 जून को ही गिरफ्तार कर लिया गया था। कन्हैया की दुकान की रेकी करने और उसकी हत्या की साजिश में कथित रूप से शामिल दो और लोगों को बाद में गिरफ्तार किया गया।

एनआईए के मामले देखने वाली विशेष अदालत ने शनिवार को सभी आरोपियों की हिरासत 12 जुलाई तक बढ़ाने की इजाजत दे दी। एनआईए हर पहलू से इस घटना की जांच कर रही है। बताया जा रहा है कि हत्या से कुछ दिन पहले कन्हैया लाल ने स्थानीय पुलिस को बताया था कि उसके खाते से शेयर की गई एक सोशल मीडिया पोस्ट पर उसे धमकी मिली थी। कन्हैयालाल ने पैगंबर मोहम्मद पर विवादित बयान देने वाली भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा का समर्थन किया था।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published.

3 × two =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
Online Unsecured Bank Loans – A Synonym To Speed And Convenience
Online Unsecured Bank Loans – A Synonym To Speed And Convenience