Kisan Andolan: किसानों ने मनाया काला दिवस - Naya India
ताजा पोस्ट | समाचार मुख्य| नया इंडिया|

Kisan Andolan: किसानों ने मनाया काला दिवस

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने बुधवार को काला दिवस मनाया। बुधवार यानी 26 मई को किसान आंदोलन के छह महीने पूरे हुए। इस मौके पर किसानों ने काला दिवस मनाया और इस दौरान उन्होंने काले झंडे फहराए, सरकार विरोधी नारे लगाए, पुतले जलाए और प्रदर्शन किया। गाजीपुर में प्रदर्शन स्थल पर थोड़ी अराजकता भी हुई, जहां किसानों ने भारी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती के बीच प्रधानमंत्री का पुतला जलाया। इस दौरान हल्की झड़प हुई।

काला दिवस मनाने के दौरान किसानों ने दिल्ली के तीन सीमा क्षेत्रों सिंघू, गाजीपुर और टिकरी पर काले झंडे लहराए और नेताओं के पुतले जलाए। दिल्ली पुलिस ने लोगों से कोरोना वायरस संक्रमण से हालात और लागू लॉकडाउन को देखते हुए इकट्ठा नहीं होने की अपील की थी। हालांकि इसके बावजूद बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हो गए थे। किसान नेताओं ने बताया कि प्रदर्शन की जगह पर ही नहीं, बल्कि हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश के गांवों में भी काले झंडे लगाए गए हैं। नेताओं ने कहा कि ग्रामीणों ने अपने घरों और गाड़ियों पर भी काले झंडे लगाए।

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने बुधवार की सुबह कहा था- हम काले झंडे के साथ ही तिरंगा भी थामे हुए हैं। हमें प्रदर्शन करते हुए पूरे छह महीने हो गए लेकिन सरकार हमारी नहीं सुन रही है। इसलिए किसानों ने काले झंडे लिए हैं। उन्होंने कहा- हम पूरी शांति के साथ अपना यह विरोध दिवस मनाएंगे। हम कोरोना के नियमों का भी पालन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोई भी प्रदर्शन की जगह पर नहीं जा रहा है, बल्कि जो जहां वहीं से प्रदर्शन में हिस्सा ले रहा है।

बाद में शाम संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से जारी बयान में कहा गया- संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व में दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के विरोध प्रदर्शन ने अपने ऐतिहासिक संघर्ष के छह महीने पूरे कर लिए हैं। यह विरोध अभूतपूर्व शैली से चल रहा है और किसान अब भी अपनी मांगों पर कायम हैं। बयान में कहा गया- आज के दिन को काला दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया गया था, जिसमें आंदोलन स्थल से लेकर सोशल मीडिया के माध्यम से भी लाखों की संख्या में लोगों ने अपना समर्थन जाहिर किया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
Youth Day Special : स्वामी विवेकानंद को पहले से पता था कि कब होगी मौत, आज भी है रहस्य…
Youth Day Special : स्वामी विवेकानंद को पहले से पता था कि कब होगी मौत, आज भी है रहस्य…