ताजा पोस्ट | समाचार मुख्य| नया इंडिया| lingayat community karnataka politics लिंगायत मठों की भाजपा को चेतावनी

लिंगायत मठों की भाजपा को चेतावनी, येदियुरप्पा हटे तो कष्ट भोगना पड़ेगा

karnatak

lingayat community karnataka politics बेंगलुरू। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को हटाए जाने की अटकलों के बीच कर्नाटक में राजनीतिक और सामाजिक रूप से बेहद प्रभावशाली लिंगायत समुदाय के मठाधीशों ने भाजपा को चेतावनी दी है। राज्य के सभी लिंगायत मठों के प्रमुखों ने एक साथ कहा है कि येदियुरप्पा हटे तो भाजपा को कष्ट भोगना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि लिंगायत समुदाय अपना समर्थन भाजपा से वापस ले लेगा। इससे पहले दो दिन अलग अलग समूहों में लिंगायत मठाधीशों ने येदियुरप्पा से मुलाकात की थी और उनके प्रति समर्थन जताया था। राज्य में चल रही सियासी हलचल के बीच भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने येदियुरप्पा की तारीफ करते हुए कहा है कि उन्होंने बहुत अच्छा काम किया है।

Read also भारत-पाक सुरक्षा बलों के बीच वार्ता

इसके बाद रविवार को लिंगायत समुदाय के सभी मठाधीशों ने बैठक की। इस बैठक में एकजुट फैसला मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के पक्ष में किया गया। मठाधीशों ने कहा कि अगर येदियुरप्पा को हटाया गया तो एक आंदोलन होगा। दूसरी ओर येदियुरप्पा ने कहा कि आलाकमान का फैसला उन्हें मंजूर होगा। उन्होंने यह भी कहा कि रविवार की शाम तक आलाकमान का फैसला आ सकता है। माना जा रहा है कि आलाकमान ने उनके इस्तीफे के लिए सोमवार का दिन तय किया है। इस बीच खबर है कि पार्टी आलाकमान ने केंद्रीय संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी और राज्य सरकार के मंत्री मुरुगेण निरानी को रविवार को दिल्ली तलब किया था।

बहरहाल, रविवार को कर्नाटक के मशहूर लिंगेश्वर मंदिर के मठाधीश शरन बासवलिंगा ने कहा- दिल्ली के लोगों को नहीं पता कि कर्नाटक में चुनाव कैसे होते हैं और कैसे जीते जाते हैं? यह सरकार बीएस येदियुरप्पा ने बनाई है। इसलिए उन्हें हटाना भाजपा को बड़े कष्ट में डाल सकता है। शरन बासवलिंगा ने कहा- यहां के मठाधीश्वर और करीब पांच करोड़ लोग उम्मीद कर रहे हैं कि भाजपा के आलाकमान विचार करने के बाद ही फैसला लेगा। अगर बिना विचार के फैसला लिया तो राज्य के पांच हजार मठाधीश्वरों का एकजुट विरोध केंद्र को झेलना पड़ेगा। लिंगेश्वर मंदिर के मठाधीश ने कहा- हम पूरी जिंदगी के लिए येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री बनाने के लिए नहीं कह रहे, बल्कि यह कार्यकाल पूरा करने के लिए कह रहे हैं।

Read more मन की बात में देश की बात, कोरोना से सावधान रहने की नसीहत

उधर, कोट्टूर के वीरशैव शिवयोग मंदिर के लिंगायत समुदाय के मठाधीश्वर संगना बासव स्वामी ने कहा- येदियुरप्पा को हटाने का षड्यंत्र राष्ट्रीय स्वयंसेवक संगठन का है। लेकिन कर्नाटक में लिंगायत की चलती है, संघ की नहीं। इस बीच कर्नाटक में नेतृत्व में बदलाव की खबरों के बीच येदियुरप्पा ने कहा- हाईकमान से मुझे शाम तक सुझाव मिलने की उम्‍मीद है। हाईकमान ही इस बारे में तय करेगा। आपको भी उनके फैसले के बारे में पता चल जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग

देश

विदेश

खेल की दुनिया

फिल्मी दुनिया

लाइफ स्टाइल

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
अस्पताल के बाहर ऑक्सीजन के लिए तड़पते मरीज और सरकार का कहना ऑक्सीजन की कमी के कारण एक भी मौत नहीं..