पीएम मोदी और भाजपा को अपने हनुमान पर नहीं आ रही है दया, काम निकला तो पहचानते तक नहीं...
ताजा पोस्ट | देश | बिहार| नया इंडिया| %%title%%

पीएम मोदी और भाजपा को अपने हनुमान पर नहीं आ रही है दया, काम निकला तो पहचानते तक नहीं…

पटना | बिहार चुनाव के दौरान खुद को पीएम मोेदी का हनुमान बताने वाले चिराग पासवान आज विषम परिस्थितियों में हैं. उनके इस स्थिति में पहुंचने के कारण तो वो खुद हैं लेकिन एक ऐसा समय भी था जब पीएम मोदी हमेशा से चिराग को प्रमोट करते हुए नजर आते थे. लेकिन आज अपने हनुमान पर ना तो पीएम मोदी को ही दया आ रही है और ना ही भाजपा के अन्य नेताओं और  प्रवक्ताओं से इस बारे में पूछने पर उनका जवाब ये आ रहा है कि ये उनका आंतरिक मामला है और इस विषय में हमारा कुछ भी कहना सही नहीं है. लेकिन क्या सच में तस्वीर वहीं है जो दिखाई जा रही है या फिर इस तस्वीर के साथ छेड़छाड़ की है. इसमें कोइ शक नहीं है कि आज चिराग अकेले पड़ गये हैं.   ऐसा पहली बार तो नहीं हुआ. बिहार विधान सभा चुनाव के दौरान भी चिराग अकेले थे और सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ अकेले ही खड़े हो गये थे. लेकिन माना जाता रहा है कि कहीं ना कहीं नीतीश कुमार को कंट्रोल में रखने के लिए भाजपा ने चिराग का इस्तेमाल किया था और अब जब काम निकल गया तो चिराग को पहचानने से भी इनकार कर रही है.

बंगाल चुनाव हारने के बाद भाजपा नहीं चाहती कोई और उठा पटक

बिहार में भाजपा और जेडीयू का गठबंधन हमेशा से ही विवादों में रहा है. ऐसे कई मौके सामने आए हैं जिस पर नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार से अलग हटकर बयान दिया है. बिहार की राजनीति में पलटू राम के नाम से प्रसिद्ध नीतीश कुमार की छवि ऐसी बन गई है कि भाजपा अब कोई रिस्क लेना नहीं चाहता. इसमें कोई शक नहीं है कि नीतीश कुमार की आंखों में चिराग पासवान तब से खटने लग गए थे जब विधानसभा चुनाव के दौरान चिराग ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था. लेकिन वह कहावत तो आपको भी याद होगी कि सौ सुनार की एक लोहार की. कुछ ऐसा ही हाल चिराग पासवान के साथ नीतीश कुमार ने किया है. ऐसे में भाजपा बंगाल चुनाव हारने के बाद से कोई उठा पटक नहीं चाहेगी.

इसे भी पढ़ें- UP Election 2022 : बुआ का भतीजे पर फूटा गुस्सा, कहा-  SP  इमानदार होती तो इन्हें यूं अधर में नहीं रखती

लालू यादव भी आ गए हैं जेल से बाहर

बिहार की राजनीति के दिग्गज नेता माने जाने वाले लालू प्रसाद यादव भी जेल से बाहर आ गए हैं. हाल ही में खबर मिली थी कि आरजेडी ने चिराग पासवान को पार्टी में शामिल होने का ऑफर दिया है. यह और बात है कि जेडीयू लगातार लोजपा में हुई तोड़फोड़ में अपना हाथ होने से इनकार कर रही है . लेकिन बिहार राजनीति के दिग्गज नेता लालू प्रसाद यादव के जेल से बाहर आने के बाद लगभग सभी पार्टियों सतर्क है ऐसे में किसी भी बड़ी उठापटक की स्थिति से इनकार नहीं किया जा सकता है. हालांकि भाजपा यह कतई नहीं चाहती कि नीतीश कुमार किसी भी कारण से नाराज हो क्योंकि अब एक बार फिर से जेडीयू बिग ब्रदर की भूमिका में आ गई है.

इसे भी पढ़ें- Rajasthan: हनी ट्रैप में फंसाकर पाकिस्तान लेना चाहता जानकारी, युवक ने दिया चकमा कहा- म्हे मारवाड़ी हां, सब समझां ह..

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *