Corona Alert: कोरोना संक्रमित के शव को छूना कितना सही, जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट - Naya India
लाइफ स्टाइल | जीवन मंत्र | ताजा पोस्ट | देश | पते की बात| नया इंडिया|

Corona Alert: कोरोना संक्रमित के शव को छूना कितना सही, जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट

New Delhi: देशभर में कोरोना की दूसरी लहर से लोग परेशान हैं. एकदिन में 3 हजार से ज्यादा मौतें हो रही हैं. शुरुआत में देश के कई जगह से यह खबर आई थी कि कोरोना से मरने वालों के अंतिम संस्कार को शहर से बाहर करने का आग्रह कर रहे थे. कई जगह पर इसे लेकर लोग स्थानीय प्रशासन के साथ भीड़ भी गए थे. ऐसे में एक बार फिर जब कोरोना से इतनी मौतें हो रही है तो लोगों के मन में कई सवाल आ रहे हैं. देशभर के लोगों के मन में यह सवाल घर कर गया है कि क्या कोरोना से मरने वाले लोगों की डेडबॉडी को छूने से कोरोना हो सकता है?? लोगों के मन में आ रहा है ये सवाल काफी हद तक जायज भी है क्योंकि अंतिम संस्कार के समय स्थानीय प्रशासन द्वारा अंतिम संस्कार तो किया जाता है. इस दौरान घर के अन्य लोगों के मौजूद होने की मंजूरी दी जाती है. ऐसे में लोगों के मन में यह सवाल उठ रहे हैं कि क्या कोरोना से दम तोड़ने लोग के शव से भी संक्रमण फैल सकता है. नया इंडिया की टीम ने विशेषज्ञों से बात कर लोगों के कुछ ऐसे ही सवालों के जवाब देने की कोशिश की. तो आइए जानते हैं क्या कहा विशेषज्ञों ने….

मरा हुआ व्यक्ति, 

ये था विशेषज्ञों का जवाब

नया इंडिया की टीम ने जब कोरोना काल में कार्य कर रहे कुछ डॉक्टरों से बात की तो उन्होंने कहा कि कोरोना से हुई मौत के बाद डेड बॉडी को छूने के लिए कई तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए. विशेषज्ञों का कहना था कि कोरोना से मौत के बाद शव को पूरी तरह से कवर कर दिया जाता है ऐसे में संक्रमण का खतरा नहीं होता है. इसके बाद भी जब अंतिम संस्कार के लिए शव को कब्र से निकाला जाता है तो लोगों को शव छूने के बाद पूरी तरह से हाथ धोकर  सैनिटाइज्ड होना चाहिए, ताकि संक्रमण उन तक ना पहुंचे.

इसे भी पढ़ें- Corona Update : अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन की भी कोरोना से मौत , दिल्ली के एम्स में चल रहा था इलाज

मरा हुआ व्यक्ति नहीं लेता सांस, संक्रमण का खतरा कम

विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना का संक्रमण हवा में फैलता है इसलिए जब संक्रमित व्यक्ति के शव को रखा जाता है तो उसे संक्रमण फैलने का खतरा कम होता है. इसके पीछे विशेषज्ञों का कहना है कि मरे हुए व्यक्ति सांस नहीं लेते जिस कारण हवा में संक्रमण ज्यादा दूर तक नहीं फैल सकता. हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि जहां तक हो सके संक्रमित व्यक्ति के शव से दूरी रखनी चाहिए और अगर अंतिम संस्कार करते समय आपको शव छूना भी पड़े तो आपको पूरी तरह सैनिटाजेशन की प्रक्रिया से गुजराना चाहिए.

इसे भी पढ़ें- Shilpa Shetty की पूरी फैमिली कोरोना पाॅजिटिव, बताया कैसे बीते मुश्किलों भरे दिन 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

ट्रेंडिंग खबरें arrow