दिल्ली में 55 फीसदी को आप, 57 फीसदी को केंद्र में भाजपा पसंद

नई दिल्ली। सर्वेक्षण आईएएनएस-सीवोटर दिल्ली पोल ट्रैकर 2020 के अनुसार, 54.6 फीसदी उत्तरदाताओं ने कहा कि अगर दिल्ली में आज चुनाव होता है तो वे आम आदमी पार्टी के लिए मतदान करेंगे। हालांकि, यह पूछे जाने पर कि अगर लोकसभा चुनाव आज कराए जाए तो वे किसे वोट करेंगे तो इसका परिणाम विपरीत हो गया और 57.1 फीसदी उत्तरदाताओं ने भाजपा को वोट देने की बात कही।

8 फरवरी के विधानसभा चुनाव के लिए 54.6 फीसदी ने आप का पक्ष लिया, 27.3 फीसदी ने कहा कि वे भाजपा का समर्थन करेंगे और सिर्फ 3.7 फीसदी ने कहा कि वे कांग्रेस के लिए वोट करेंगे। इस बीच 1.3 फीसदी ने अन्य दलों को चुना, लेकिन बड़ी संख्या में 13.1 फीसदी लोग दुविधा में रहे। ट्रैकर 11 नवंबर 2019 से 14 जनवरी 2020 तक काम कर रहा था। इस बीच ट्रैकर ने एक दिन पाया कि आम आदमी पार्टी के लिए पसंद रेटिंग 50 फीसदी से नीचे जा रहा है, लेकिन यह बहुत मामूली था।

सिर्फ 30 दिसंबर 2019 को आप की पसंद रेटिंग 49.9 फीसदी हुई। इसके बाद इसने 50 फीसदी से ज्यादा के स्तर को प्राप्त किया। इस बीच, इस अवधि में भाजपा की पसंद रेटिंग 23 फीसदी से 29 फीसदी के बीच रही और कांग्रेस तीनन से पांच के बीच बनी रही। डाटा कलेक्शन के अंतिम दिन यह 6 फीसदी को पार कर गई। पहला आईएएनएस-सीवीओटर दिल्ली पोल ट्रैकर 2020 को 6 जनवरी को जारी किया गया। उसमें अनुमान जताया गया कि अगर चुनाव उसी दिन होते हैं तो आप को 59 सीटे मिलेंगी, जबकि भाजपा को आठ सीट मिलेगी। कांग्रेस को तीन सीटें मिलने का अनुमान जताया गया।

लेकिन जब उन्हीं उत्तरदाताओं से लोकसभा चुनाव को लेकर वही सवाल किए गए तो जवाब विपरीत मिला। पूछा गया कि अगर आज लोकसभा चुनाव होते हैं तो आप किसे वोट करेंगे? इस पर 57.1 फीसदी उत्तरदाताओं ने भाजपा को वोट देने की बात कही, जिसमें आप काफी पीछे छूट गई। रोचक है कि जब ट्रैकर को शुरू किया गया तो भाजपा की पसंद रेटिंग प्रभावशाली रूप से 60 फीसदी थी। लेकिन 14 जनवरी को यह 57.1 फीसदी के साथ समाप्त हुई। आप जिसकी विधानसभा चुनाव के लिए पसंद रेटिंग 54.6 फीसदी थी, उसे लोकसभा चुनाव के लिए मतदाताओं से सिर्फ 17.1 फीसदी समर्थन मिला। सिर्फ 10.2 फीसदी लोगों ने कहा कि वे कांग्रेस को वोट देंगे, जबकि 1.2 फीसदी ने कहा कि वे दूसरों को पसंद करते हैं। इसमें 14.4 फीसदी लोक दुविधा की स्थिति में रहे।

आप की पसंद रेटिंग में लोकसभा चुनावों के लिए 17 फीसदी से 24 फीसदी के बीच घटती-बढ़ती रही। लेकिन जब लोगों से पूछा गया कि अगर आप किसी कारण की वजह से अपने पसंद की पार्टी को वोट नहीं दे पाते हैं तो आपकी दूसरी पसंद विधानसभा चुनाव के लिए क्या होगी? यह सवाल उत्तरदाताओं के लिए चकिल करने वाला था। इस सवाल में 37.5 फीसदी लोग दुविधा की स्थिति में रहे। दूसरी पार्टी को तरजीह देने में भाजपा शीर्ष पर रही, उसे 23.3 लोगों ने पसंद किया। हालांकि, कांग्रेस दूसरे नंबर की पसंदीदा पार्टी रही, उसे 14.5 फीसदी वोट किया और आप को 12 फीसदी लोगों ने वोट किया। अन्य को 12.7 फीसदी वोट मिला। 70 सदस्यीय दिल्ली विधानसभा के लिए 8 फरवरी को मतदान होना है। परिणामों की घोषणा 11 फरवरी को होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares