nayaindia Loudspeaker Controversy: राज ठाकरे की चेतावनी बनी CM उद्धव के गले की फांस
ताजा पोस्ट | देश | महाराष्ट्र| नया इंडिया| Loudspeaker Controversy: राज ठाकरे की चेतावनी बनी CM उद्धव के गले की फांस

राज ठाकरे की चेतावनी बनी उद्धव सरकार के गले की फांस, अब एक्शन मोड में महाराष्ट्र सरकार

मुंबई | Loudspeaker Controversy: महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर विवाद अब और गहरा गया है। औरंगाबाद में मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने एक बार फिर से मस्जिदों से लाउडस्पीकर उतारने की चेतावनी को दौहराने के बाद महाराष्ट्र की उद्धव सरकार एक्शन मोड में आ गई है। साथ ही ठाकरे की चेतावनी की आखिरी तारीख भी 3 मई है जो कि, कल मंगलवार को पूरी हो रही है। ऐसे में किसी तरह की घटना को लेकर महाराष्ट्र में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।
Chief Minister Uddhav Thackeray replied:
रैली की शर्तों के उल्लघंन सामने आने के बाद कार्रवाई 
खबरों की माने तो राज्य के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल महाराष्ट्र के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ आज बैठक करने जा रहे हैं। जिसमें राज ठाकरे की चेतावनी के मद्देनजर राज्य के संवेदनशील हिस्सों में पुलिस की व्यवस्था को लेकर चर्चा की जाएगी। इसी के साथ ये भी खबर है कि औरंगाबाद में राज ठाकरे को जिन शर्तों पर रैली की अनुमति दी गई थी। उनमें से किसका उल्लघंन हुआ इस संबंध में औरंगाबाद पुलिस कमिश्नर जांच कर रहे हैं। शर्तों के  उल्लघंन सामने आने के बाद कार्रवाई भी की जाएगी।
राज ठाकरे ने कहा- अगर कुछ हुआ तो मैं जिम्मेदार नहीं
Loudspeaker Controversy:  आपको बता दें कि, मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने औरंगाबाद रैली में अपनी उसी चेतावनी को दोहराया और मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए 3 मई तक दी गई समय सीमा के बाद भी अगर लाउडस्पीकर नहीं हटाए गए तो उसके बाद जो भी होता है उसके लिए मैं जिम्मेदार नहीं रहूंगा। रैली में ठाकरे ने गरजते हुए कहा कि, अगर वे अच्छे से नहीं समझते हैं, तो हम उन्हें महाराष्ट्र की ताकत भी दिखा देंगे और 4 मई से मस्जिदों के लाउडस्पीकर पर बजने वाली आवास से दोगुनी आवाज में सभी हिंदू हनुमान चालीसा बजाएंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published.

1 × three =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
दुःस्वप्न का साकार होना
दुःस्वप्न का साकार होना