anil deshmukh lookout notice अनिल देशमुख की गिरफ्तारी की संभावना बढ़ी
ताजा पोस्ट | देश | महाराष्ट्र| नया इंडिया| anil deshmukh lookout notice अनिल देशमुख की गिरफ्तारी की संभावना बढ़ी

अनिल देशमुख की गिरफ्तारी की संभावना बढ़ी

Anil deshmukh lookout notice मुंबई। महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर गिरफ्तारी का खतरा मंडरा रहा है। हर महीने एक सौ करोड़ रुपए की वसूली के आरोप के मामले में धन शोधन के पहलू से जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय, ईडी ने एनसीपी नेता और महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है। इससे पहले एजेंसी ने उनको पांच बार नोटिस भेजा लेकिन वे ईडी के सामने पेश नहीं हुए। हर बार उनके वकील केंद्रीय जांच एजेंसी के सामने पेश हुए और बढ़ती उम्र, बीमारी और तकनीकी कारणों का हवाला देते हुए पेशी में छूट मांगते रहे।

Read also Team India की ओवल टेस्ट में ऐतिहासिक जीत, England को 210 रन पर किया ढेर, सीरीज में 2-1 से बनाई बढ़त

ईडी की ओर से जारी लुकआउट नोटिस के बाद अब अनिल देशमुख देश छोड़ कर नहीं जा सकते हैं। एजेंसी की इस कार्रवाई के बाद अब देशमुख की गिरफ्तारी का खतरा बढ़ गया है। इसी मामले में पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के निजी सचिव संजीव पलांडे और निजी सहायक कुंदन शिंदे को ईडी ने 26 जून को गिरफ्तार किया था। दोनों के खिलाफ 23 अगस्त को आरोपपत्र भी दायर की गई थी। दोनों पर रिश्वत के पैसों को जमा करने और उन्हें काले से सफेद करने का आरोप है।

सूत्रों के मुताबिक, ईडी ने अपने आरोपपत्र में कहा है कि देशमुख ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री के रूप में अपने पद का दुरुपयोग किया और बरखास्त सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वझे के जरिए मुंबई के कई बार और पब से 4.7 करोड़ रुपए इकट्ठा किए थे। पैसे वसूलने का काम संजीव पलांडे और कुंदन शिंदे के जरिए किया गया। सचिन वझे फिलहाल एंटीलिया विस्फोटक बरामदगी केस और मनसुख हिरेन की हत्या मामले में तलोजा जेल में बंद हैं और एनआईए इस मामले की जांच कर रही है। उसकी दो जमानत याचिकाएं खारिज हो चुकी हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow