nayaindia maharashtra politics maha vikas aghadi राहुल से अघाड़ी गठबंधन खतरे में!
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | देश | महाराष्ट्र| नया इंडिया| maharashtra politics maha vikas aghadi राहुल से अघाड़ी गठबंधन खतरे में!

राहुल से अघाड़ी गठबंधन खतरे में!

नई दिल्ली/मुंबई। विनायक दामोदर सावरकर पर राहुल गांधी के दिए बयान के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में हड़कंप मचा है। महाविकास अघाड़ी गठबंधन की सहयोगी पार्टी शिव सेना बाला साहेब ठाकरे के नेता इससे नाराज हैं और उन्होंने गठबंधन तोड़ने की बात कही है। शिव सेना के उद्धव ठाकरे गुट के नेताओं की नाराजगी के बाद कांग्रेस की ओर से सफाई देने और मान मनौव्वल का सिलसिला शुरू हो गया है। शिव सेना के उद्धव ठाकरे गुट की नाराजगी के बाद कांग्रेस की ओर से जयराम रमेश ने सफाई दी और संजय राउत से बात की।

गौरतलब है कि गुरुवार को राहुल गांधी ने अकोला में एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान एक चिट्ठी दिखाते हुए कहा था कि सावरकर ने डर कर माफी मांगी थी और जीवन भर अंग्रेजों का नौकर बने रहने की बात कही थी। उनके इस बयान के बाद उद्धव ठाकरे की शिव सेना में खलबली मची है। ठाकरे गुट ने राहुल के विचारों पर कड़ी असहमति जताते हुए कांग्रेस के साथ गठबंधन खत्म करने के संकेत दिए हैं। बयान के एक दिन बाद शुक्रवार की सुबह पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा- हम महा विकास अघाड़ी गठबंधन में बने नहीं रह सकते हैं। इसका हवाला देते हुए पार्टी के सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि संजय राउत का बयान एक गंभीर प्रतिक्रिया है। उन्होंने यह भी कहा कि उद्धव ठाकरे इस पर बयान दे सकते हैं।

हालांकि उद्धव ठाकरे गुट भाजपा के आरोपों का भी जवाब दे रहा है और उसकी ओर से कहा गया है कि केंद्र में भाजपा की सरकार है तो वह विनायक दामोदर सावरकर को भारत रत्न क्यों नहीं देती है। उद्धव गुट के सांसद अरविंद सावंत गठबंधन तोड़ने के सवाल पर जम्मू कश्मीर की पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के साथ भाजपा के गठबंधन की याद दिलाई और कहा कि दोनों के विचारों में बहुत विरोधाभास था फिर भी दोनों साथ थे।

बहरहाल, शिव सेना प्रवक्ता संजय राउत ने इस बारे में कहा- सावरकर का मुद्दा हमारे लिए महत्वपूर्ण है और हम उनकी विचारधारा में विश्वास करते हैं। उन्होंने कांग्रेस को नसीहत देते हुए कहा- उन्हें इस मुद्दे को नहीं उठाना चाहिए था। बाद में डैमेज कंट्रोल की कोशिश करते हुए कांग्रेस महासचिव और संचार विभाग के प्रमुख जयराम रमेश ने कहा कि राहुल गांधी ने सावरकर को निशाना नहीं बनाया था, बल्कि एक ऐतिहासिक तथ्य बता रहे थे। रमेश ने कहा- मैंने आज संजय राउत से बात की। हम असहमत होने के लिए सहमत हैं। रमेश ने  इस धारणा का खंडन किया कि यह महा विकास अघाड़ी को कमजोर करेगा। उन्होंने कहा- यह एमवीए को प्रभावित नहीं करेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five + 2 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बुलबुले हैं, तो फूटेंगे ही!
बुलबुले हैं, तो फूटेंगे ही!