महाराष्ट्र : अफसरों ने अपनी वाहवाही के चक्कर में बच्चे की मासूमियत से किया मजाक - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | महाराष्ट्र| नया इंडिया|

महाराष्ट्र : अफसरों ने अपनी वाहवाही के चक्कर में बच्चे की मासूमियत से किया मजाक

महाराष्ट्र : भारत में कोरोना के मामलों में गिरावट होनी शुरु हो गई है। लेकिन कुछ राज्यों में कोरोना ने अपनी छाया बच्चों पर डालनी शुरु कर दी है। अब बच्चे कोरोना संक्रमित मिलने लगे है। लेकिन कोरोना से बच्चों का इंतकाल हो ना हो लेकिन कुछ लोगों की हैवानियत जरूर बच्चों की जान ले लेगी। महाराष्ट्र के बुलढ़ाणा में दिल पसीजने वाली घटना सामने आई है। बुलढ़ाणा में एक अफसर आठ साल के मासूम से कोरोना मरीजों का टॉयलेट साफ कराया। अपनी वाहवाही लूटने के चक्कर में अफसर ने मासूम को भी नहीं बक्शा। इस घटना वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इसके बाद हरकत में आए प्रशासन ने पंचायत समिति के अधिकारी को निलंबित कर दिया है।

इसे भी पढ़ें आश्चर्य: बुजुर्ग महिला भिखारी के पास से मिला खजाना, गिनने में कर्मचारियों को लग गये घंटों

बच्चे को बनाया सफाईकर्मचारी

नवभारत टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, मामला महाराष्‍ट्र के बुलढाणा बताया जा रहा है। यहां के मरोड़ गांव में प्रशासन ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला परिषदीय स्‍कूल को आइसोलेशन सेंटर में बदल दिया है। इस सेंटर में की कोरोना मरीज रह रहे है। इस बीच गांव समिति को जानकारी हुई कि जिलाधिकारी इस सेंटर के निरीक्षण के लिए आ रहे हैं। तो गांव समिति के एक अफसर ने डीएम से शाबाशी लूटने के चक्कर में बच्चे से घिनौना काम करवा डाला। आइसोलेशन सेंटर का टॉयलेट गंदा था और कोई सफाईकर्मी मौजूद नहीं था। ऐसे में गांव समिति के एक अफसर ने 8 साल बच्‍चे को धमकाकर उससे टॉयलेट साफ कराना शुरू कर दिया। वीडियो में दिख रहा है कि वह पीछे से मराठी भाषा में उसे निर्देश भी दे रहा है।

50 रूपये में बच्चे के साथ घिनौना काम

वीडियो के सामने आने के बाद हड़कंप मच गया। इस घटना के बाद से प्रशासन सक्रिय हो गया और इस दौरान जब बच्चे से पुछताछ की गई। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बच्‍चे का कहना है कि टॉयलेट साफ करने के बदले उसे 50 रुपये दिए गए थे। उसे टॉयलेट की सफाई करने के लिए लकड़ी से मारने की धमकी दी गई थी। उस अफसर को अब निलंबित कर दिया गया है।

गांव समिति के एक अफसर का झूठ

इस बीच सवाल ये भी है कि अगर क्वारंटीन सेंटर का टॉयलेट साफ करने की वजह से यह बच्चा कोरोना संक्रमित हो जाता है तो इसका जिम्मेदार कौन होगा? हैरान करने वाली बात ये है कि एक बच्चे से पंचायत समिति के कर्मचारी ने टॉयलेट साफ करवाया और कहा कि इसकी जानकारी अधिकारी को है। जान लें कि घटना का वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासन हरकत में आ गया है। बुलढाणा के डीएम ने इस मामले की जांच के लिए एक कमिटी का गठन किया है, जिसे तीन दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट सबमिट करनी है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *