Mamata Meet Sharad Pawar: ममता दीदी आज करेंगी शरद पवार से मुलाकात
ताजा पोस्ट | देश | महाराष्ट्र| नया इंडिया| Mamata Meet Sharad Pawar: ममता दीदी आज करेंगी शरद पवार से मुलाकात

मोदी सरकार के खिलाफ मिशन 2024 में जुटी ममता दीदी, आज करेंगी शरद पवार से मुलाकात

महाराष्ट्र | Mamata Meet Sharad Pawar: देश में अभी तक आपस में लड़ती नजर आ रही पार्टियां अब भाजपा की मोदी सरकार के विरूद्ध एक होती नजर आ रही हैं। जैसे-जैसे देश में विधान सभा चुनाव 2022 का समय नजदीक आ रहा है। वैसे-वैसे भाजपा के खिलाफ विपक्ष एकजुट होता जा रहा है। लेकिन ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) इन सबसे आगे हैं। वे मोदी सरकार के खिलाफ मिशन 2024 में जुटी हुई हैं और लगातार विपक्ष को एक करने में जुटी हुई है। पश्चिम बंगाल फतह करने के बाद अब ममता दीदी दूसरे राज्यों में भी विजयी फताका फहराने और मोदी सरकार को हराने के लिए लगातार प्रयासरत है। ममता दीदी आज राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के चीफ शरद पवार (Sharad Pawar) से मुलाकात करेंगी।

ये भी पढ़ें:- दिसबंर के पहले दिन से महंगाई का झटका! गैस सिलेंडर से लेकर फोन पर बात करना भी हुआ महंगा, जानें और क्या-क्या लगे झटकें

Mamata Meet Sharad Pawar: ममता दीदी अपनी पार्टी तृणमूल कांग्रेस को किसी भी कीमत पर लोकसभा चुनाव 2024 (Lok Sabha Elections 2024 ) में सिर्फ पश्चिम बंगाल तक सीमित नहीं रखना चाहती है। इसलिए अभी से ही लगातार दूसरे राज्यों में अपने पैर पसारने में लगी हुई हैं। आज शरद पवार के साथ उनकी मुलाकात को सियासी मायनों में बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है। बता दें कि, इससे पहले ममता ने हाल ही में दिल्ली का दौरा किया था। जिसमें दूसरी पार्टी के कई नेताओं ने उनकी पार्टी का हाथ थामा था।

ये भी पढ़ें:- Maharashtra में ‘हाई रिस्क’ देशों से आए 6 यात्री मिले संक्रमित, अब यात्रियों के लिए 7 दिन का क्वारंटीन अनिवार्य, तीन बार करानी होंगी जांच

कांग्रेस के बिना भाजपा के खिलाफ एकजुट विपक्ष संभव नहीं
शरद पवार और ममता बनर्जी की मुलाकात पर महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा है कि, कांग्रेस को बाहर रखकर भाजपा के खिलाफ एकजुट विपक्ष तैयार करना संभव नहीं है।

ये भी पढ़ें:- किसानों की आज होगी बैठक

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
तीसरी लहर को कमतर बताने की गलती
तीसरी लहर को कमतर बताने की गलती