आज जंतर-मंतर पहुंचेंगे किसान | farmer protest parliament march | Naya India
ताजा पोस्ट | समाचार मुख्य| नया इंडिया| आज जंतर-मंतर पहुंचेंगे किसान | farmer protest parliament march | Naya India

आज जंतर-मंतर पहुंचेंगे किसान, दिल्ली पुलिस ने दी प्रदर्शन करने की इजाजत

farmer protest

farmer protest parliament march : नई दिल्ली। केंद्र सरकार के बनाए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले करीब आठ महीने से आंदोलन कर रहे किसान गुरुवार को प्रदर्शन करने दिल्ली के जंतर-मंतर पहुंचेंगे। दिल्ली सरकार ने किसानों को जंतर-मंतर पर आंदोलन की इजाजत दे दी है। किसानों ने पहले ऐलान किया था कि संसद के मॉनसून सत्र के दौरान 22 जुलाई से हर दिन दो सौ सांसद दिल्ली में संसद के सामने प्रदर्शन करेंगे। इसके लिए उन्होंने सरकार से इजाजत मांगी थी। दिल्ली सरकार ने किसानों को 22 जुलाई सौ नौ अगस्त तक सुबह 11 बजे से शाम पांच बजे तक प्रदर्शन करने की इजाजत दे दी है।

Read also सरकार ने जारी की यात्रा गाइडलाइन, वैक्सीन के दोनों डोज लगाए बिना यात्रा नहीं !

Bharatiya Kisan Union rakesh tiket

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कुछ शर्तों के साथ किसानों को प्रदर्शन की मंजूरी दी है। गुरुवार से शुरू हो रहे किसानों के इस प्रदर्शन में रोज दो सौ से ज्यादा किसान शामिल नहीं हो सकेंगे। साथ ही उन्हें कोरोना प्रोटोकॉल का भी ध्यान रखना होगा। बताया जा रहा है कि सरकार की ओर से दी गई इजाजत के तहत यह शर्त भी है कि किसान सिंघु बॉर्डर से पुलिस एस्कॉर्ट में जंतर-मंतर तक ले जाए जाएंगे।

Read also Pegasus Spyware: संसदीय समिति में उठेगा पेगासस का मामला

इससे पहले किसान संगठनों की मंगलवार को दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के साथ मीटिंग हुई थी। इसके बाद किसानों ने कहा था कि वे मॉनसून सत्र के दौरान जंतर-मंतर पर ही किसान संसद लगाएंगे। इस दौरान वे शांतिपूर्ण प्रदर्शन करते हुए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग करेंगे। इस दौरान कोई भी प्रदर्शनकारी संसद भवन की ओर नहीं जाएगा। इससे पहले किसानों ने संसद भवन के सामने प्रदर्शन का ऐलान किया था और संसद तक ट्रैक्टर परेड की बात भी कही थी।

Read also: ऑक्सीजन की कमी से मौत मामले में घिरी सरकार, विपक्षी नेताओं का केंद्र सरकार पर हमला

गौरतलब है कि इस साल 26 जनवरी को लाल किले तक किसानों की ट्रैक्टर परेड हुई थी, जिस दौरान हिंसा भड़क गई थी। उस हिंसा के बाद उन्हें पहली बार दिल्ली में प्रदर्शन की इजाजत मिली है। 26 जनवरी की रैली के दौरान प्रदर्शनकारी उग्र हो गए थे और कई उपद्रवियों ने लाल किले में घुसकर पुलिसकर्मियों से मारपीट की और किले की प्राचीर पर धार्मिक झंडा फहरा  दिया था। ध्यान रहे केंद्र सरकार के बनाए कृषि कानूनों के खिलाफ कई राज्यों के किसान पिछले साल 26 नवंबर से दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। farmer protest parliament march

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *