nayaindia Modi Biden joint resolution मोदी-बाइडेन का साझा संकल्प
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Modi Biden joint resolution मोदी-बाइडेन का साझा संकल्प

मोदी-बाइडेन का साझा संकल्प

टोक्यो। क्वाड सम्मेलन से इतर हुई दोपक्षीय वार्ता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने विश्व शांति और सुरक्षा का साझा संकल्प किया। मंगलवार को हुई मुलाकात में दोनों नेताओं ने अधिक समृद्ध, मुक्त और सुरक्षित विश्व के लिए साथ मिल कर काम करने का संकल्प जाहिर किया। इसके साथ ही मोदी और बाइडेन ने भारत-अमेरिका के रक्षा और आर्थिक संबंधों को और मजबूत बनाने की प्रतिबद्धता भी जताई।

राष्ट्रपति बाइडेन से हुई मुलाकात को सार्थक बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दोनों देशों के संबंध भरोसे और मित्रता वाले हैं। मोदी ने मंगलवार को कहा- अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन के साथ सार्थक बैठक हुई। हमने कारोबार, निवेश, रक्षा, लोगों के बीच संपर्क सहित भारत-अमेरिका संबंधों के विविध आयामों पर आज व्यापक चर्चा की। उन्होंने कहा- रक्षा व अन्य मामलों में दोनों देशों के साझा हित एवं साझे मूल्य हैं और यह सही मायने में भरोसे एवं मित्रता की एक साझेदारी है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- हमारे लोगों के आपसी संबंध और दोनों देशों के बीच मजबूत आर्थिक सहयोग हमारी साझेदारी को अद्वितीय बनाते हैं। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच कारोबार और निवेश में भी लगातार विस्तार होता जा रहा है, हालांकि यह अब भी क्षमता से बहुत कम है। मोदी ने कहा- मुझे विश्वास है कि हमारे बीच भारत-अमेरिका निवेश प्रोत्साहन समझौते से निवेश की दिशा में ठोस प्रगति देखने को मिलेगी। उन्होंने कहा- हम दोनों ही देश हिंद-प्रशांत क्षेत्र के बारे में समान नजरिया रखते हैं और न सिर्फ दोपक्षीय स्तर पर, बल्कि अन्य समान विचार रखने वाले देशों के साथ अपने साझा मूल्यों और साझा हितों को सुरक्षित रखने के लिए काम कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने दोपक्षीय वार्ता के दौरान बाइडेन से कहा- भारत और अमेरिका के बीच रणनीतिक गठजोड़ सही मायने में भरोसे की एक साझेदारी है और यह मित्रता वैश्विक शांति व स्थिरता के लिए अच्छाई की ताकत के रूप में जारी रहेगी। दूसरी ओर व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान में कहा गया- बाइडन ने यूक्रेन के खिलाफ रूस के अनुचित युद्ध की निंदा की। उन्होंने कहा कि नेताओं के बीच इस बात पर चर्चा हुई कि युद्ध के कारण पैदा हुई बाधाओं, खास तौर पर ऊर्जा व खाद्यान्न की कीमतों में वृद्धि की समस्या को दूर करने के लिए कैसे सहयोग किया जाए।

व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि दोनों नेताओं ने महत्वपूर्ण रक्षा गठजोड़ को गहरा बनाने, दोनों देशों के फायदे के लिए आर्थिक सहयोग को प्रोत्साहित करने और वैश्विक स्वास्थ्य गठजोड़, महामारी को लेकर तैयारी और महत्वपूर्ण व उभरती प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में साझेदारी को विस्तार देने को लेकर प्रतिबद्धता व्यक्त की। जलवायु परिवर्तन व स्वच्छ ऊर्जा के मामले पर भी दोनों के बीच वार्ता हुई।

Leave a comment

Your email address will not be published.

20 − 7 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
शिंदे सीएम, फड़नवीस डिप्टी सीएम
शिंदे सीएम, फड़नवीस डिप्टी सीएम