nayaindia Mahant narendra giri death नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकार का फैसला टला
ताजा पोस्ट | समाचार मुख्य| नया इंडिया| Mahant narendra giri death नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकार का फैसला टला

नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकार का फैसला टला

mahant narendra giri death

प्रयागराज। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और निरंजनी अखाड़े के सचिव रहे महंत नरेंद्र गिरि को बुधवार को धार्मिक मंत्रोच्चार के बीच बाघंबरी मठ में बुधवार को भू समाधि दी गई। महंत नरेंद्र गिरि को उनकी अंतिम इच्छा के अनुसार उनके पार्थिव शरीर को बाघंबरी मठ के बागीचे में भू समाधि दी गई। उससे पहले पार्थिव देह को प्रयागराज शहर में घुमाते हुए संगम पर गंगा में स्नान कराया गया। फिर देह को लेटे हनुमान मंदिर ले जाया गया। इस बीच उनके उत्तराधिकार का मामला टल गया है। उन्होंने अपने सुसाइट नोट में बलबीर गिरि को उत्तराधिकार बनाया है लेकिन अब कहा जा रहा है कि उत्तराधिकार का फैसला पंच परमेश्वर करेंगे। Mahant narendra giri death

Read also सिद्धू को सीएम बनने से हर हाल में रोकेंगे कैप्टेन

Mahant narendra giri death

बहरहाल, बुधवार को अंतिम संस्कार संपन्न होने के बाद इस मामले की जांच कर रही एसआईटी की टीम मठ पहुंची। टीम ने नरेंद्र गिरि के सुसाइड नोट में घोषित उत्तराधिकारी बलवीर से पूछताछ की। मठ के अंदर एसपी, डीएम भी साथ में थे। इस कथित सुसाइड नोट में महंत नरेंद्र गिरि ने जिनके नाम लिखे थे उन आरोपियों- आनंद गिरि और आद्या तिवारी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। तीसरा आरोप संदीप तिवारी गिरफ्तार है।

इस बीच सुसाइड नोट के आधार पर खुद को गद्दी का अगला उत्तराधिकारी बता रहे बलवीर अपने बयान से पलट गए हैं। अब उनका कहना है कि उत्तराधिकारी कौन होगा, ये फैसला पंच परमेश्वर करेंगे। इससे पहले बलवीर ने कहा था कि सुसाइड नोट में गुरु जी नरेंद्र गिरि की ही राइटिंग है और वे उत्तराधिकारी बनने को तैयार हैं। लेकिन अब उन्होंने कहा है कि उन्होंने गुरुजी की राइटिंग नहीं पहचानी है। इस वजह से मामला उलझ गया है। अब जांच टीम सुसाइड नोट की जांच कर रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

twelve + two =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
आंगनबाड़ी केंद्र में खिलौने लेकर पहुंचे सांसद
आंगनबाड़ी केंद्र में खिलौने लेकर पहुंचे सांसद