Narendra Modi US Visit भारत-अमेरिका में क्वाड पर ठप्पा
ताजा पोस्ट | समाचार मुख्य| नया इंडिया| Narendra Modi US Visit भारत-अमेरिका में क्वाड पर ठप्पा

भारत-अमेरिका में क्वाड पर ठप्पा

Narendra Modi US Visit

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्वाड समूह की जरूरत और सहयोग का दो टूक ऐलान किया। शुक्रवार को व्हाइट हाउस में बाइडन और मोदी की द्विपक्षीय बैठक के दौरान, दोनों नेताओं में हिंद-प्रशांत क्षेत्र और उसके बाहर साझा हितों को बढ़ावा देने पर सहमति हुई। ध्यान रहे क्वाड सुरक्षा वार्ता में भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया शामिल हैं। इसके तहत चारों देशों के बीच हिंद-प्रशांत क्षेत्र में साझा दृष्टिकोण से बहुपक्षीय सहयोग होगा। Narendra Modi US Visit

द्विपक्षीय बैठक के बाद जारी ए संयुक्त बयान में कहा गया कि मोदी और बाइडन ने ‘एक स्पष्ट दृष्टि की पुष्टि की, जो अमेरिका-भारत संबंधों को आगे बढ़ाएगी। इसमें एक रणनीतिक साझेदारी का निर्माण और आसियान और क्वाड सदस्यों सहित क्षेत्रीय समूहों के साथ मिलकर काम होगा औरहिंद-प्रशांत क्षेत्र मेंसाझा हितों को बढ़ावा दिया जाएगा।

आसियान इस क्षेत्र के सबसे प्रभावशाली समूहों में से एक है और भारत के साथ ही अमेरिका, चीन, जापान और ऑस्ट्रेलिया सहित कई अन्य देश इसके संवाद भागीदार हैं। आसियान के 10 सदस्य देशों में इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपीन, सिंगापुर, थाईलैंड, ब्रुनेई, वियतनाम, लाओस, म्यांमा और कंबोडिया शामिल हैं।

Narendra Modi US Visit

Read also वाशिंगटन में मोदी की उपलब्धियाँ

भारत, अमेरिका और कई अन्य विश्व शक्तियां हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन के बढ़ते सैन्य दखल की पृष्ठभूमि में इलाके को स्वतंत्र, खुला और संपन्न बनाने की मानते है। जबकि चीन इस क्षेत्र में विवादित दक्षिण चीन सागर के अधिकतर क्षेत्र पर अपना दावा करता है। बीजिंग ने दक्षिण चीन सागर में कृत्रिम द्वीप और सैन्य प्रतिष्ठान बनाए हैं। पूर्वी चीन सागर में चीन का जापान के साथ भी क्षेत्रीय विवाद है। दोनों नेताओं ने एक व्यापार और निवेश साझेदारी विकसित करने के लिए भी उत्सुकता जतायी है। साथ ही दोनों नेताओं ने कोविड-19 महामारी और अन्य स्वास्थ्य चुनौतियों के खिलाफ लड़ाई को समाप्त करने पर जोर दिया।

Narendra Modi US Visit

बयान में कहा गया है कि नेताओं ने जलवायु परिवर्तन के खिलाफ कार्रवाई को बढ़ाने के लिए वैश्विक प्रयासों, साथ ही हमारे संबंधित लोगों के समर्थन में लोकतांत्रिक मूल्यों और संस्थानों को मजबूत करने, और लोगों के बीच संबंधों को बढ़ावा देने पर भी चर्चा की। इसके अलावा, दोनों नेताओं ने स्वास्थ्य, शिक्षा और पर्यावरण पर सहयोग को आगे बढ़ाने के लिए यूएस-इंडिया गांधी-किंग डेवलपमेंट फाउंडेशन के शुभारंभ को लेकर उत्सुकता जतायी।

वैश्विक भागीदारों के रूप में, अमेरिका और भारत ने शिक्षा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और लोगों के जुड़ाव में अपने सहयोग को और मजबूत करने का संकल्प लिया। बयान में कहा गया है कि नेताओं ने इस साल के अंत में भारत और अमेरिका के विदेश और रक्षा मंत्रियों की टू प्लस टू मंत्रिस्तरीय वार्ता के जरिए करीबी विचार-विमर्श का स्वागत किया। Narendra Modi US Visit

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
तालिबानः भारत की सही पहल
तालिबानः भारत की सही पहल