करीब पांच हजार महिलाओं एवं बालिकाओं ने लिया आत्मरक्षा प्रशिक्षण

जयपुर। राजस्थान में पुलिस द्वारा शुरु किये गये महिला शक्ति आत्मरक्षा केन्द्रों पर एक पखवाड़े में करीब पांच हजार महिलाओं एवं बालिकाओं ने आत्मरक्षा का प्रशिक्षण लिया। पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह ने आज बताया कि पुलिस ने सभी जिलों में गत एक जनवरी से महिला शक्ति आत्मरक्षा केन्द्र शुरु किया।

जिनमें 16 जनवरी तक चार हजार 719 महिलाओं एवं बालिकाओं को आत्मरक्षा प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। सिंह ने बताया कि महिलाओं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए समस्त जिलों में महिला शक्ति आत्मरक्षा केन्द्रों का शुभारम्भ किया गया और इनमें स्कूली बालिकाओं सहित सभी बालिकाओं एवं महिलाओं को आत्मरक्षा के लिए आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान करने की सभी व्यवस्थाएं की गयी है।

उन्होंने बताया कि जनवरी के प्रथम पखवाड़े में करौली में 947, बांसवाडा में 664, जयपुर आयुक्तालय में 442, चितौडगढ में 250, जैसलमेर में 198, दौसा में 195, जोधपुर ग्रामीण में 170, राजसमन्द में 167, बाडमेर में 165, बून्दी में 140, नागौर में 109, श्रीगंगानगर में 105 एवं सवाईमाधोपुर में 100 महिलाओं एवं बालिकाओं को आत्मरक्षा प्रशिक्षण प्रदान किया गया है।

इसी तरह चुरू जिले में 50, सीकर में 24, झुन्झुनु में 62, कोटा शहर में 33, कोटा ग्रामीण 33, अलवर में 31, अजमेर में 60, टोंक में 38, भरतपुर में 54, भीलवाडा में 20, धौलपुर में 63, बीकानेर में 47, बारा में 70, पाली में 75, डूंगरपुर में 55, सिरोही में 33, झालावाड में 75, हनुमानगढ में 17, जालोर में 80, जोधपुर आयुक्तालय में 90, उदयपुर मे 37 एवं जयपुर ग्रामीण में 10 महिलाओं एवं बालिकाओं को आत्मरक्षा प्रशिक्षण प्रदान किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares