new corona variant omicron ओमीक्रोन पर चौकसी भरपूर
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| new corona variant omicron ओमीक्रोन पर चौकसी भरपूर

ओमीक्रोन पर चौकसी भरपूर

नई दिल्ली। भारत में कोविड-19 के नये ओमीक्रोन रूप के संक्रमण की चौकसी बढ गई है। स्वास्थ्य मंत्री मांडविया ने संसद में कहा कि   केंद्र ने राज्य सरकार को सभी सावधानियां बरतने को कहा है। जोखिम भरे अंतरराष्ट्रीय स्थानों से आने वाले सभी यात्रियों की आरटी-पीसीआर जांच की जा रही है। ओमिक्रॉनके मद्देनजर सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोविड मानकों का सख्ती से पालन कराने के निर्देश देते हुए कहा है कि अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कड़़ी निगरानी की जानी चाहिए।

 Read also धनशोधन मामले में सीए गिरफ्तार

भारत में  16 हजार यात्रियों की आरटी-पीसीआर जांच में 18 लोग कोरोना वायरस संक्रमित मिले हैं। इनके जीनोम अनुक्रमण से यह पता लगाया जा रहा है कि इनमें से कितने नये स्वरूप से संक्रमित हैं।

लोकसभा में कोविड-19 महामारी पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कोविड-19 वायरस के नये स्वरूप का जिक्र कर कहा कि दक्षिण अफ्रीका से दुबई होते हुए भारत आने वाले दो यात्री – 19 साल की एक लड़की और 67 साल के एक पुरुष बेंगलुरू हवाई अड्डे पर कोविड संक्रमित पाए गये। उन्होंने बताया कि 19 वर्षीय महिला में ओमीक्रोन वायरस की पुष्टि नहीं हुई जबकि बुजुर्ग के नमूने में ओमीक्रोन वायरस की पुष्टि हुई।

मांडविया ने बताया कि बेंगलुरू के 46 साल के एक पुरुष की 22 नवंबर को हुई आरटी-पीसीआर जांच में संक्रमण का पता चला। उन्होंने कहा कि इनका जीनोम अनुक्रमण 28 नवंबर को हुआ जिसमें ओमीक्रोन स्वरूप का पता चला और इनके संपर्क में आए तीन परिवार के सदस्यों और 160 लोगों की जांच में पांच लोग संक्रमित मिले जिनके नमूनों का आगे जीनोम अनुक्रमण परीक्षण चल रहा है।

Read also युद्धपोतों पर महिला अधिकारी तैनात

मंत्री ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका ने 25 नवंबर को इस वायरस के नये स्वरूप का पहला मामला आने की घोषणा की थी और उसी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बैठक की। उन्होंने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने सभी राज्यों के साथ बैठक की और इसके बाद संशोधित पारमर्श जारी किया गया।

देशवासियों को कोविड टीके की बूस्टर या तीसरी अतिरिक्त खुराक तथा 18 साल से कम उम्र के बच्चों को टीके लगाये जाने को लेकर कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, द्रमुक सहित विभिन्न दलों के सदस्यों के सवाल पर मांडविया ने कहा कि हमारे पास दो ही विकल्प हैं जिसमें से एक राजनीतिक और दूसरा वैज्ञानिक है। मांडविया ने आरोप लगाया कि इस गंभीर आपदा के काल में कुछ राजनीतिक दलों ने टीके पर संशय फैलाने का प्रयास करके, टीकाकरण अभियान पर सवाल उठाकर एवं प्रधानमंत्री पर आरोप लगाकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई को कमजोर करने प्रयास किया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
Up Election : मुजफ्फरनगर में आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में भाजपा विधायक समेत तीन पर मामला दर्ज
Up Election : मुजफ्फरनगर में आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में भाजपा विधायक समेत तीन पर मामला दर्ज