nayaindia Lakhimpur Kheri violence Ashish Mishra Additional Sessions Judge लखीमपुर हिंसा की सुनवाई पूरी होने में पांच साल!
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | देश | दिल्ली| नया इंडिया| Lakhimpur Kheri violence Ashish Mishra Additional Sessions Judge लखीमपुर हिंसा की सुनवाई पूरी होने में पांच साल!

लखीमपुर हिंसा की सुनवाई पूरी होने में पांच साल!

नई दिल्ली। लखीमपुर खीरी हिंसा (Lakhimpur Kheri Violence) मामले की सुनवाई कर रहे सत्र न्यायाधीश ने बुधवार को उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) को सूचित किया कि सामान्य तौर पर मुकदमे की सुनवाई पूरी करने में लगभग पांच साल लग सकते हैं। लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री अजय कुमार मिश्रा (Ajay Kumar) का बेटा आशीष मिश्रा भी एक आरोपी है।

शीर्ष अदालत को भेजे पत्र में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश ने कहा है कि मामले में अभियोजन पक्ष के 208 गवाह, 171 दस्तावेज और फॉरेसिंक विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) की 27 रिपोर्ट हैं। न्यायमूर्ति सूर्यकांत और न्यायमूर्ति वी रामासुब्रमण्यन की पीठ ने कहा, “वह (सत्र न्यायाधीश) कह रहे हैं कि सामान्य परिस्थितियों में पांच साल लग सकते हैं।”

सर्वोच्च अदालत ने पिछले महीने सत्र अदालत से पूछा था कि उस अदालत में अन्य लंबित या प्राथमिकता वाले मुकदमों की समय-सारणी से समझौता किए बिना लखीमपुर खीरी हिंसा मामले की सुनवाई पूरी करने में सामान्य तौर पर कितना समय लगने की संभावना है। पीठ अक्टूबर 2021 में लखीमपुर खीरी में प्रदर्शन कर रहे किसानों को एसयूवी से कुचलने के मामले में आशीष मिश्रा की ओर से दायर जमानत याचिका पर सुनवाई कर रही है।

सुनवाई के दौरान पीठ ने उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से पेश अधिवक्ता से इस बात की पुष्टि करने को कहा कि क्या घटना में कथित रूप से किसानों को रौंदने वाली एसयूवी में सवार तीन लोगों की हत्या के मामले में दर्ज एक अलग मुकदमे में नामजद चार आरोपी अभी भी हिरासत में हैं। पीठ ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 19 जनवरी की तारीख मुकर्रर की। (भाषा)

 

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × two =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बारूदी सुरंग विस्फोट में सेना का जवान घायल
बारूदी सुरंग विस्फोट में सेना का जवान घायल