nayaindia Ranchi Jharkhand ED JMM Congress झारखंड में सियासी हलचल तेजः सीएम से कल ईडी करेगी पूछताछ
kishori-yojna
देश | झारखंड | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Ranchi Jharkhand ED JMM Congress झारखंड में सियासी हलचल तेजः सीएम से कल ईडी करेगी पूछताछ

झारखंड में सियासी हलचल तेजः सीएम से कल ईडी करेगी पूछताछ

रांची। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) से गुरुवार को होनेवाली ईडी की पूछताछ के पहले राज्य में सियासी हलचल तेज हो गई है। रांची स्थित मुख्यमंत्री आवास में बुधवार शाम चार बजे सत्ताधारी गठबंधन जेएमएम, कांग्रेस और राजद के सभी विधायकों की बैठक बुलाई गई है। इसके पहले कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने अपने आवास पर पार्टी के विधायकों की बैठक बुलाई। इन बैठकों में ईडी के समन से लेकर चुनाव आयोग की अनुशंसा पर राज्यपाल की ओर से संभावित कार्रवाई के मद्देनजर पैदा हुए पॉलिटिकल क्राइसिस के मद्देनजर रणनीति पर चर्चा होगी।

इधर राज्य के विभिन्न इलाकों से जेएमएम के हजारों कार्यकर्ता रांची के मोरहाबादी मैदान में इकट्ठा हो रहे हैं। पार्टी की रणनीति है कि जिस वक्त मुख्यमंत्री से ईडी की पूछताछ होगी, उस वक्त रांची में जोरदार शक्ति प्रदर्शन हो।

बता दें कि ईडी ने राज्य में अवैध माइनिंग के जरिए एक हजार करोड़ रुपए की मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सीएम हेमंत सोरेन को पूछताछ के लिए 17 नवंबर को रांची एयरपोर्ट रोड स्थित क्षेत्रीय कार्यालय में हाजिर होने को कहा है। इसके पहले उन्हें 3 नवंबर को पूछताछ के लिए समन भेजा गया था, लेकिन उन्होंने पूर्व से तय कार्यक्रमों मे अपनी व्यस्तताओं का हवाला देते हुए ईडी से तीन हफ्ते का वक्त मांगा था। इसपर ईडी ने उन्हें तीन के बदले दो हफ्ते का वक्त दिया और दूसरी बार समन जारी कर 17 नवंबर की तारीख तय की गई है।

बताया जा रहा है कि सीएम से पूछताछ के लिए ईडी के ज्वायंट डायरेक्टर कपिल राज सहित कई बड़े अफसर रांची पहुंच रहे हैं। ईडी ने इस पूछताछ के मद्देनजर क्षेत्रीय कार्यालय और उसके बाहर पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिए राज्य के पुलिस मुख्यालय को पत्र लिखा है। मुख्यमंत्री के समर्थक और सत्ताधारी पार्टियों के कार्यकर्ता ईडी कार्यालय पर प्रदर्शन कर सकते हैं। इस ²ष्टि से पुलिस मुख्यालय ने सुरक्षा की आवश्यक तैयारियां शुरू कर दी हैं।

अवैध माइनिंग के जरिए मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी ने मुख्यमंत्री के विशेष प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को पहले ही गिरफ्तार किया है। पंकज मिश्रा के खिलाफ दायर चार्जशीट में ईडी ने उसे मिलने वाले राजनीतिक संरक्षण का विस्तार पूर्वक उल्लेख किया है। खनन घोटाले में साहिबगंज में छापेमारी के दौरान ईडी को पंकज मिश्रा के घर से एक लिफाफा मिला था। इसमें मुख्यमंत्री के बैंक खाते से जुड़ा चेकबुक था। इसमें से दो चेक बुक हस्ताक्षरित थे। हालांकि, इसमें राशि का उल्लेख नहीं किया गया था। ईडी की चार्जशीट के मुताबिक मुख्यमंत्री के नाम पर राजनीतिक रसूख का इस्तेमाल करते हुए अधिकारियों को कार्रवाई करने से रोका जाता था।

पंकज मिश्रा के अलावा पावर ब्रोकर प्रेम प्रकाश और कोलकाता के कारोबारी अमित अग्रवाल को भी गिरफ्तार किया गया है। इन दोनों ने भी पूछताछ में हेमंत सोरेन से अपने संबंधों के बारे में जानकारी दी है। माना जा रहा है कि इन्हीं तथ्यों के आधार पर मुख्यमंत्री से पूछताछ की जाएगी।

ईडी ने इसके पहले मनरेगा घोटाले के जरिए मनी लांड्रिंग में झारखंड की सीनियर आईएएस खनन सचिव पूजा सिंघल को भी गिरफ्तार किया था। उनसे जुड़े सीए सुमन कुमार के ठिकाने से 17.49 करोड़ नकद मिले थे। ईडी को जांच के दौरान इस बात की जानकारी मिली थी कि इसमें अवैध खनन से मिली राशि भी शामिल है। पूछताछ के दौरान मुख्यमंत्री से इन सभी मुद्दों से जुड़े सवाल पूछे जा सकते हैं। (आईएएनएस)

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × one =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुईं महबूबा मुफ्ती
भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुईं महबूबा मुफ्ती