nayaindia Rampur Sadar Assembly Azam Khan Akash Saxena रामपुर में टूटा आजम का तिलिस्म: भाजपा ने लहराया परचम
kishori-yojna
देश | उत्तर प्रदेश | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Rampur Sadar Assembly Azam Khan Akash Saxena रामपुर में टूटा आजम का तिलिस्म: भाजपा ने लहराया परचम

रामपुर में टूटा आजम का तिलिस्म: भाजपा ने लहराया परचम

रामपुर (उत्तर प्रदेश)। रामपुर सदर विधानसभा (Rampur Sadar Assembly) क्षेत्र में चुनावी बिसात बदलने के साथ ही अर्से पुराना रिवाज भी बदल गया और भाजपा ने आजम खां (Azam Khan) का 40 साल पुराना सियासी वर्चस्व तोड़कर पहली बार इस क्षेत्र में परचम लहरा दिया। भाजपा प्रत्याशी आकाश सक्सेना ने खां के करीबी माने जाने वाले सपा उम्मीदवार आसिम राजा को 33702 मतों से हराकर पहली बार यह सीट भाजपा के नाम दर्ज करा दी।

आजम खान करीब 45 साल बाद रामपुर के किसी चुनाव में उम्मीदवार के तौर पर खड़े नहीं थे, लेकिन यह चुनाव भाजपा बनाम आजम खां के तौर पर ही लड़ा गया। उपचुनाव मतगणना के दौरान आसिम राजा 19वें चक्र तक करीब साढ़े सात हजार मतों से आगे रहे, लेकिन 21वां चक्र आते-आते भाजपा उम्मीदवार सक्सेना ने करीब 12000 मतों से बढ़त बना ली। इसके बाद वह कभी नहीं पिछड़े।

आकाश सक्सेना रामपुर जिले की स्वार सीट से पूर्व विधायक और प्रदेश के पूर्व राज्य मंत्री शिव बहादुर सक्सेना के बेटे हैं। उन्होंने इस बार ’50 साल बनाम 50 महीने’ का सूत्र लेकर चुनाव लड़ा था। वह अपनी लगभग हर चुनावी सभा में कहते थे कि रामपुर की जनता ने अगर आजम खां को 50 साल दिये हैं तो इस उपचुनाव में उन्हें 50 महीने देकर देखें।

रामपुर सदर विधानसभा सीट के चुनावी इतिहास को देखें तो इससे पहले कभी यहां भाजपा का कोई उम्मीदवार नहीं जीता था। इस सीट पर पिछले करीब 40 साल से आजम खां ही विधायक रहे। उससे पहले यहां कांग्रेस का वर्चस्व रहा।

रामपुर सदर सीट आजम खां को नफरतभरा भाषण देने के मामले में पिछले महीने तीन साल की सजा सुनाए जाने के कारण उनकी सदस्यता निरस्त होने के चलते रिक्त हुई थी, जिस पर उपचुनाव के तहत पिछली पांच दिसंबर को मतदान हुआ था। (भाषा)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × three =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
देश में 1842 कोविड उपचाराधीन मरीज
देश में 1842 कोविड उपचाराधीन मरीज