nayaindia NIA investigate Udaipur murder उदयपुर हत्याकांड की जांच एनआईए करेगी
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया| NIA investigate Udaipur murder उदयपुर हत्याकांड की जांच एनआईए करेगी

उदयपुर हत्याकांड की जांच एनआईए करेगी

जयपुर। उदयपुर में एक हिंदू दर्जी की गला काट कर हत्या किए जाने के मामले की जांच आतंकवादी घटना के पहलू से की जाएगी। राष्ट्रीय जांच एजेंसी, एनआईए इस घटना की जांच करेगी। वैसे हत्याकांड के दूसरे ही दिन इस मामले के तार पाकिस्तान से जुड़े होने के सबूत मिले हैं। एक आरोपी के मोबाइल फोन में 10 पाकिस्तानी नंबर मिले हैं और कहा जा रहा कन्हैयालाल साह की हत्या करके वीडियो बनाने वाले दोनों आरोपी पाकिस्तान के एक संगठन दावत ए इस्लाम से जुड़े हुए थे। बताया जा रहा है कि दो में से एक आरोपी दो बार नेपाल गया था और एक आरोपी 2014 में कराची भी गया था। घटना के विरोध में कई संगठनों ने गुरुवार को राजस्थान में बंद की अपील की है।

घटना में बाहरी हाथ होने की आशंका को देखते हुए केंद्र सरकार ने पहले ही कन्हैयालाल की हत्या की घटना को एक आतंकवादी कार्रवाई मानते हुए बुधवार को एनआईए को मामले की जांच अपने हाथ में लेने का निर्देश दिया। केंद्र सरकार ने कहा है कि एनआईए पता लगाए कि इस घटना में कोई अंतरराष्ट्रीय संगठन शामिल है या नहीं। गौरतलब है कि उदयपुर में मंगलवार को दो लोगों ने एक धारदार हथियार से कन्हैयालाल की हत्या कर दी थी और उसका वीडियो बना कर सोशल मीडिया पर डाला था। दोनों आरोपियों ने कहा कि वे इस्लाम के अपमान का बदला ले रहे हैं। घटना के चार घंटे के बाद दोनों आरोपियों- गौस मोहम्मद और रियाज अख्तरी को गिरफ्तार कर लिया गया।

घटना के एक दिन बाद गुरुवार को राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि उनकी सरकार ने इस मामले को गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कट्टरपंथी तत्वों के शामिल हुए बिना अंजाम नहीं दिया जा सकता। बुधवार को कन्हैयालाल के शव का पोस्टमार्टम के बाद परिवार के हवाले कर दिया गया। इस बीच नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया भी बुधवार को कन्हैयालाल के के घर पहुंचे।

राजस्थान पुलिस ने मंगलवार को दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया था और शुरुआती जांच में दोनों आरोपियों के आतंकवादी संगठन आईएसआईएस से प्रभावित होने की बात सामने आई थी। उसके बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मंगलवार रात ही एक विशेष जांच दल, एसआईटी को उदयपुर रवाना कर दिया था। उसके एक दिन बाद बुधवार को इस घटना की जांच एनआईए को सौंपी गई और आतंकवादी वारदात के तौर पर इसकी जांच करने को कहा गया। गौरतलब है कि मारे गए कन्हैयालाल ने भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता रहीं नूपुर शर्मा के पैगंबर मोहम्मद पर दिए गए बयान का समर्थन किया था। इसी वजह से आरोपियों ने गला काट कर उसकी हत्या कर दी।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twelve + three =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
भाजपा सांसद का बाबा रामदेव पर हमला
भाजपा सांसद का बाबा रामदेव पर हमला