Bihar: सरकारी नियम में बदलाव, नहीं लगाना होगा अंगूठा, अब ऐसे मिलेगा राशन - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | बिहार| नया इंडिया|

Bihar: सरकारी नियम में बदलाव, नहीं लगाना होगा अंगूठा, अब ऐसे मिलेगा राशन

पटना। कोरोना संक्रमण ( COVID 19 )  देखते हुए बिहार में सरकारी नियमों में कई तरह के बदलाव किए गए हैं. इसी के तहत खाद्य उपभोक्ता संरक्षण विभाग ने भी बड़ा फैसला करते हुए तय किया है कि अब जन वितरण प्रणाली से जो भी अनाज लेने आएगा उसे पॉश मशीन पर अंगूठा नहीं लगाना होगा, बल्कि दुकान में ही आंखों का स्कैन कर उनकी पहचान की जाएगी और फिर उसे अनाज मुहैया कराया जाएगा. ऐसा इसलिए किया जा रहा है, ताकि अंगूठा लगाने से होने वाले कोरोना संक्रमण के खतरे को कम किया जा सके.

बायोमीट्रिक सत्यापन के लिए आंखों का स्कैन
खाद्य आपूर्ति विभाग के अनुसार, आंखों के स्कैन कराने से संक्रमण का खतरा नहीं होता है और बायोमीट्रिक तरीके से सत्यापन भी हो जाता है. इसके लिए सभी जिलों के जन वितरण प्रणाली के दुकानदारों को यह निर्देश दे दिया गया है कि इस तकनीक को जल्द से जल्द उपलब्धत करा लें, ताकि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन भी किया जा सके. इसी के साथ बिहार के जन वितरण प्रणाली के दुकानदारों को ये भी निर्देश दिया गया है कि अपने अपने जन वितरण प्रणाली के दुकान पर काम करने वाले सहायकों के साथ-साथ अपने लिए भी मास्क, सेनेटाइजर सहित कोरोना से बचने के लिए तमाम एहतियातन उपाय अपनाए.

 ये भी पढ़ें :- दिल्ली को मिली राहत, छतरपुर में आज से 500 बेड वाला राधा स्वामी कोविड केयर सेंटर शुरू.. सीएम केजरीवाल ने मंत्रियों संग किया जायजा

भारत सरकार देगी मई और जून में मुफ्त अनाज
बता दें कि भारत सरकार ने भी तय किया है की मई और जून महीने में मुफ्त अनाज दिया जाएगा और ये अनाज जन वितरण प्रणाली के दुकानों से ही मिलेगा और उम्मीद जताई जा रही है कि तब दुकानों पर भारी भीड़ उमड़ सकती है. ऐसे में पहले से ही कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए तमाम उपाय अपना लिए जाए.

ये भी पढ़ें :- Corona Update : देश में कोरोना से कोहराम! 24 घंटे में रिकॉर्ड 3.52 लाख केस, 2800 से ज्यादा मौतें, दुनियाभर के देशों ने बढ़ाए मदद के हाथ

लाभार्थी की सुरक्षा बड़ी जिम्मेदारी
बिहार की खाद्य आपूर्ति मंत्री लेसी सिंह के अनुसार, जन वितरण प्रणाली से फायदा उठाने वाले हर लाभार्थी को अनाज मिले ये हमारी प्राथमिकताओं में सबसे ऊपर है. उसके साथ ही कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच उनकी सुरक्षा का पूरा खयाल रखना भी हमारी बड़ी जिम्मेदारी है. इसी जिम्मेदारी को देखते हुए ये बड़ा फैसला लिया गया है. बिहार में जन वितरण प्रणाली के लाभार्थी की संख्या आठ करोड़ से ज्यादा है.

Latest News

Rajasthan में फिर टल सकता हैं मंत्रिमंडल में फेरबदल, अगस्त तक करना होगा इंतजार!
जयपुर | Rajasthan Cabinet Reshuffle: पंजाब की राजनीति में चल रही उठापटक को सुलझाने के बाद अब कांग्रेस आलाकमानों का पूरा फोकस…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});