Corona Crisis: दिल्ली के बाद अब पंजाब में ऑक्सीजन की कमी से 6 मरीजोें की मौत, परिजनों का फूटा गुस्सा - Naya India
ताजा पोस्ट | देश | पंजाब| नया इंडिया|

Corona Crisis: दिल्ली के बाद अब पंजाब में ऑक्सीजन की कमी से 6 मरीजोें की मौत, परिजनों का फूटा गुस्सा

Amritsar: दिल्ली के बाद अब पंजाब के अस्पतालों में भी ऑक्सीजन की भारी कमी देखी जा रही है. पंजाब के अस्पतालों में भी ऑक्सीजन के लिए हाहाकार मचना शुरू हो गया है . ताजा मामला पंजाब के अमृतसर स्थित नीलकंठ अस्पताल से सामने आया है जहां ऑक्सीजन की कमी से 6 लोगों की मौत हो गई.  ऑक्सीजन की कमी से मरीजों की मौत के बाद परिजन भारी संख्या में अस्पताल में पहुंच गए और अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ जमकर अपनी भड़ास निकाली.  बाद में प्रशासन ने मोर्चा संभालते हुए किसी तरह परिजनों को समझा-बुझाकर शांत किया लेकिन ऑक्सीजन के हाहाकार से मरीजों की मौत पर देश में कई सवाल खड़े हो रहे हैं.

अस्पताल प्रबंधन ने पहले ही दे दी थी जानकारी

ऑक्सीजन की कमी का दंश झेल रहे देश के अस्पताल अब मजबूर नजर आ रहे हैं.  अमृतसर के नीलकंठ अस्पताल में भी कुछ ऐसा ही नजारा सामने आया.  जानकारी के अनुसार अस्पताल प्रबंधन ने मरीजों को भर्ती करते समय ही एक कागज पर या लिखकर साइन करवा लिया था कि अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी है यदि ऑक्सीजन की कमी से मरीज को कोई नुकसान होता है या मरीज की मृत्यु हो जाती है तो अस्पताल प्रबंधन इसका जिम्मेदार नहीं होगा.

इसे भी पढें- Corona Update : देश में लगातार जारी है कोरोना का तांडव, बीते 24 घंटे में सामने आए 3.45 लाख से अधिक नए केस, मौतों में भी हो रहा इजाफा

विभाग के पास नहीं है कोई जवाब

ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए देश और राज्य के स्वास्थ्य विभाग के पास अब कोई जवाब नहीं बचा है.  अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से हो रही मौतों पर स्वास्थ्य विभाग किसी भी प्रकार का बयान देने से बचता हुआ दिखाई दे रहा है. कई राज्यों में स्थिति यह है कि सरकारी अस्पतालों में तो ऑक्सीजन की आपूर्ति कुछ हद तक की जा रही है लेकिन निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के कारण मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. कल भी देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की मृत्यू दम घूटने से हो गई थी.

इसे भी पढें-Rajasthan Corona Update : राजस्थान में फिर सामने आए मौतों के डराने वाले आंकड़े, 24 घंटे में 15358 नए कोरोना संक्रमित केस दर्ज

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *