Petrol Diesel Price : पेट्रोल-डीजल के कीमतों में लगातार तीसरे दिन वृद्धि, जानें आज के दाम

Must Read

जयपुर। Petrol Diesel Price : चुनाव क्या खत्म हुए तेल कंपनियों ने फिर से दाम बढ़ाने शुरू कर दिए है। आम जनता पहेले ही कोरोना महामारी से त्रस्त है। हर वस्तुओं के दामों में लगातार उछाल आ रहा है और लोगों का पेट भरना मुष्किल हो रहा है। लोगों के काम-धंधे छिन गए है। लोगों को कमाई का साधन नहीं मिल रहा है। ऐसे में पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों ने आम लोगों को और भी संकट में डाल दिया है। सरकारी तेल कंपनियों ने लगातार तीसरे दिन गुरुवार को भी पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी की है। तेल कंपनियों ने पेट्रोल के दाम 24 पैसे और डीजल के दाम में 31 पैसे की बढ़ोतरी की है। देश में पेट्रोल की कीमतें इस समय रिकॉर्ड स्तर पर हैं। दिल्ली को छोड़कर अन्य शहरों में डीजल के दाम भी ऐतिहासिक उच्चतम स्तर पर हैं।

देश में पेट्रोल की कीमतें इस समय रिकॉर्ड स्तर पर हैं। दिल्ली को छोड़कर अन्य शहरों में डीजल के दाम भी ऐतिहासिक उच्चतम स्तर पर हैं। जिसके चलते जयपुर में अब पेट्रोल के दाम 97.36 रुपए और डीजल के दाम 89.92 रुपए प्रति लीटर हो गए है। तेल कंपनियों ने इस साल 29वीं बार पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि की है। पिछले तीन दिनों में तेल कंपनियों ने पेट्रोल के दामों में 59 पैसे और डीजल के दाम में 72 पैसे की जोरदार बढ़ोतरी कर दी है।

यह भी पढ़ें:-  पेट्रोल-डीजल ने आम आदमी की बढ़ाई मुश्किलें, हुआ महंगा

देश के महानगरों में आज पेट्रोल के दाम
– दिल्ली में आज पेट्रोल 90.99 रुपए प्रति लीटर
– मुंबई में 97.34 रुपए प्रति लीटर
– कोलकाता में 90.14 रुपए प्रति लीटर
– चेन्नई में 92.90 रुपए प्रति लीटर

आज डीजल के दाम
– दिल्ली में 81.42 रुपए प्रति लीटर
– मुंबई में 88.49 रुपए प्रति लीटर
– चेन्नई में 86.35 रुपए प्रति लीटर
– कोलकाता में 84.26 रुपए प्रति लीटर

गौरतलब है कि जब तक चुनाव का दौर चल रहा था तब तक पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि नहीं हो रही थी पिछले 66 दिनों से इनके दाम नहीं बढ़े थे। क्रूड आॅयल बाजार में तब भी खूब उतार-चढ़ाव आया था, लेकिन उसका असर तेल के घरेलू दामों पर नहीं पड़ा। लेकिन जैसे ही चुनाव खत्म हुए और दामों में निरन्तर वृद्धि चालू हो गई।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

‘चित्त’ से हैं 33 करोड़ देवी-देवता!

हमें कलियुगी हिंदू मनोविज्ञान की चीर-फाड़, ऑटोप्सी से समझना होगा कि हमने इतने देवी-देवता क्यों तो बनाए हुए हैं...

More Articles Like This