• डाउनलोड ऐप
Thursday, May 6, 2021
No menu items!
spot_img

प्रियंका ने 10वीं कक्षा की परीक्षा रद्द करने के सरकार के फैसले को सराहा, 12वीं कक्षा की परीक्षा भी रद्द करने की मांग की

Must Read

New Delhi | कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने 10वीं कक्षा की CBSE बोर्ड परीक्षा रद्द करने के सरकार के फैसले का स्वागत किया है और मांग की है कि 12वीं कक्षा की परीक्षा भी रद्द की जाए। उन्होंने कहा, खुशी है कि सरकार ने अंतत: 10वीं कक्षा की परीक्षा रद्द कर दी है, लेकिन एक अंतिम निर्णय 12वीं कक्षा के लिए भी लिया जाना चाहिए। जून तक छात्रों को अनुचित दबाव में रखने का कोई मतलब नहीं है। मैं सरकार से अब निर्णय लेने का आग्रह करता हूं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने पिछले दिनों Kovid के फिर से बढ़ते प्रकोप के कारण CBSE की परीक्षा रद्द करने की मांग की थी। प्रियंका ने Facebook पर लिखा, सरकार से मेरी फिर से अपील है कि CBSE की परीक्षाएं रद्द की जाएं। यह मांग राज्यों के शिक्षा मंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री (Prime Minister) की बैठक से पहले आई।

इसे भी पढ़ें :-Rajasthan: पूर्व उपमुख्यमंत्री Sachin Pilot ने कहा, उपचुनाव में तीनों सीटों पर जीत दर्ज करेगी कांग्रेस

इससे पहले, 11 अप्रैल को उन्होंने केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ (Ramesh Pokhriyal ‘Nishank’) को एक पत्र लिखा था, जिसमें कहा था कि भीड़भाड़ वाले परीक्षा केंद्रों पर छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करना व्यावहारिक रूप से असंभव होगा। इसके अलावा, प्रकृति और वायरस के प्रसार को देखते हुए, यह सिर्फ छात्रों के लिए नहीं, बल्कि उनके शिक्षकों, इनविजिलेटर और परिवार के सदस्यों के लिए भी जोखिम भरा होगा, जो उनके साथ संपर्क में होंगे।

इसके अलावा, उग्र महामारी के दौरान बच्चों को परीक्षाओं में बैठने के लिए मजबूर करने पर होने वाली घटनाओं के लिए सरकार और CBSE बोर्ड को जिम्मेदार ठहराया जाएगा। कोई भी परीक्षा केंद्र हॉटस्पॉट साबित हो सकता है, बड़ी संख्या में बच्चे वायरस से संक्रमित हो सकते हैं।

Priyanka ने कहा, युवा की रक्षा और मार्गदर्शन करने की जिम्मेदारी राजनेताओं की है। एक के बाद एक राज्य सरकारें जब सार्वजनिक स्थानों में बड़ी संख्या में लोगों के जुटने पर पाबंदी लगाने के दिशानिर्देश जारी कर रही हैं, तब युवा होते बच्चों को परीक्षा देने के लिए मजबूर कर नैतिक आधार पर हम वास्तव में कहां खड़े हो सकते हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandh) ने भी केंद्र से कहा था कि वह परीक्षा कराने के अपने फैसले पर पुनर्विचार करे।

इसे भी पढ़ें :-ममता का पीएम मोदी पर हमला: कहा- BJP चुनाव प्रचार के लिए बाहरी लोगों को ले कर आई जिससे कोरोना मामले बढ़े

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

मशहूर एक्ट्रेस Abhilasha Patil ने कोरोना से हारी जंग, कई बाॅलीवुड फिल्मों में किया दमदार अभिनय

नई दिल्ली। कोरोना के कोहराम के बीच हिंदी और मराठी सिनेमा जगत से एक बुरी खबर है. कोरोना संक्रमण...

More Articles Like This