सीएए पर जनता को किया जा रहा है गुमराह: जयराम ठाकुर - Naya India
ताजा पोस्ट| नया इंडिया|

सीएए पर जनता को किया जा रहा है गुमराह: जयराम ठाकुर

देहरादून। उत्तराखंड के देहरादून में हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज किसी पार्टी का नाम लिए बिना कहा कि कुछ लोग नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर जनता को गुमराह कर रहे हैं।

देहरादून में राजपुर रोड स्थित एक होटल में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में ठाकुर ने कहा कि सीएए पर देश की जनता को गुमराह किया जा रहा है। ठाकुर ने कहा कि भारत के लिए दुनिया का नजरिया बदल रहा है और देश को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जैसे ही प्रतिनिधत्व की जरूरत है। अपने दूसरे कार्यकाल में उन्होंने काफी जटील समस्याओं का समाधान किया है।

उन्होंने कहा कि आजादी के 70 साल में पहली बार देश को एक मजबूत सरकार मिली है। मोदी के मजबूत नेतृत्व में तीन तलाक एवं अनुच्छेद 370 बहुत से महत्वपूर्ण फैसले लिए गए है। आज देश में सीएए और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) पर उचित निर्णय लेने की देश को बहुत आवश्यकता थी।

उन्होंने कहा कि सीएए को जानना और समझना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता से पहले देश की आजादी के लिए लोगों ने आपस में मिल कर स्वतंत्रता हेतु अपनी-अपनी लड़ाई लड़ी और फलस्वरूप देश आजाद हुआ। स्वतंत्रता के पश्चात धर्म के आधार पर पाकिस्तान अलग देश बना। भारत अपनी धर्म निरपेक्ष पहचान के रूप में आगे बढ़ा। उन्होंने कहा कि देश के बंटवारे में कांग्रेस का हाथ रहा था। पूर्व प्रधानमंत्री पं. जवाहरलाल नेहरू और लियाकत अली के बीच हुए समझौते से यह बात पूर्णत स्पष्ट होती है कि जिसके अनुसार अपने-अपने धर्म को अपनाने कि पूर्ण छूट मिली।

इसे भी पढ़ें :- सीएए ,एनआरसी के खिलाफ देशव्यापी ‘गांधी शांति यात्रा’ : यशवंत

मुख्यमंत्री ठाकुर ने कहा कि सीएए लागू होने से किसी की नागरिकता नहीं छिनेगी, कानून में केवल इतना परिवर्तन हुआ है कि इसमें पहले नागरिकता अर्हता 11 वर्ष थी, जिसे अब पांच वर्ष किया गया है। ठाकुर ने कहा कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश मुस्लिम देश हैं। इन देशों में धर्म के आधार पर अल्पसंख्यकों के साथ अत्याचार जारी है। ऐसे अल्पसंख्यक जो अपने धर्म में रह कर जीवन यापन कर रहे हैं, उन्हें प्रताड़ित किया गया है।

उनके व्यवसायों को बर्बाद कर, उनके साथ बुरा बर्ताव किया जा रहा है। ऐसी परिस्थितियों में वे लोग जो भारत की शरण में आए हैं और भारत के प्रति आस्था रखते हैं और उन्हें अभी तक नागरिकता नहीं मिली, मानवता के लिए उनको अधिकार देने के लिए ये कानून लाया गया है। उन्होंने कहा कि ननकाना साहिब में ऐसी परिस्थितियां पैदा हुई हैं कि अल्पसंख्यक परेशान हो रहे हैं। और ऐसी घटनाएं कई बार घटित हुई हैं। जो सीएए का विरोध कर रहे हैं, उनका मकसद सिर्फ राजनीतिक है।

उन्होंने कहा भाजपा इस कानून का विरोध करने वालों का पुरजोर विरोध करती है। उन्होंने कहा कि इससे किसी की नागरिकता नहीं छिनेगी। यह बहुत ही स्वागत योग्य कदम है। इस अवसर पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद अजय भट्ट आदि भाजपा नेता उपस्थित रहे।

Latest News

बच्चे पैदा करो और पैसे कमाओ! भारत के पड़ोसी देश में बच्चे के जन्म पर नकद पैसा देने का फैसला
विदेश | Dinesh Saini - July 29,2021
नई दिल्ली | लगातार बढ़ती आबादी से परेशान भारत जहां लोगों से अब एक ही बच्चा पैदा (Child Birth) करने की बात…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *