nayaindia Queen Elizabeth II funeral अंतिम वैश्विक महारानी को विदाई!
ताजा पोस्ट | विदेश| नया इंडिया| Queen Elizabeth II funeral अंतिम वैश्विक महारानी को विदाई!

अंतिम वैश्विक महारानी को विदाई!

लंदन। दुनिया भर के पांच सौ राष्ट्रपतियों, प्रधानमंत्रियों और राजाओं की मौजूदगी में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को अंतिम विदाई दी गई। वेस्टमिंस्टर ऐबे में पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। उसके बाद उनको दफनाए जाने की प्रक्रिया शुरू हुई। दफनाने की प्रक्रिया बिल्कुल निजी रूप से हुई, जिसमें सिर्फ परिवार के लोग शामिल हुए। उन्हें भारतीय समय के मुताबिक रात 12 बजे और स्थानीय समय के मुताबिक शाम सात बजे के करीब अपने पति प्रिंस फिलिप की कब्र के पास दफनाया जाएगा। उससे पहले स्थानीय समय के अनुसार 11 बजे उनकी अंतिम विदाई का राजकीय समारोह शुरू हुआ था।

सार्वजनिक रूप से अंतिम विदाई का कार्यक्रम समाप्त होने के बाद उनका पार्थिव शरीर विंडसर कैसल ले जाया गया। किंग चार्ल्स तृतीय की अगुआई में शाही परिवार के लोग भी वहां पहुंचे। महारानी को भारतीय समय के अनुसार रात करीब 12 बजे सेंट जॉर्ज मेमोरियल चैपल में पति प्रिंस फिलिप की कब्र के पास दफनाया जाएगा। इसके पहले, राजकीय अंतिम समारोह में दुनिया भर के राष्ट्राध्यक्षों ने उनको श्रदधांजलि दी। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और उनकी पत्नी जिल बाइडेन ने भी महारानी को श्रद्धांजलि दी। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू भी सोमवार को हुए राजकीय समारोह में शामिल हुईं। जापान के सम्राट नारोहितो भी समारोह का हिस्सा बने।

इसके पहले, रॉयल गार्ड्स की परेड के साथ महारानी का ताबूत वेस्टमिंस्टर हॉल से वेस्टमिंस्टर ऐबे लाया गया। शाही परिवार के लोग गन कैरीज के पीछे चल रहे थे। अंतिम संस्कार की सारी  रस्में डीन ऑफ वेस्टमिंस्टर डेविड होयले ने पूरी कराईं। शाही रीति-रिवाजों के मुताबिक महारानी के निधन पर शोक जताया गया और प्रार्थना हुई। प्रधानमंत्री लिज ट्रस ने एक छोटा सा भाषण दिया। इसके बाद शाही परिवार की तरफ से एक प्रस्ताव पढ़ा गया। फिर पूरे देश में दो मिनट का मौन रखा गया। इसके साथ ही राजकीय सम्मान की रस्में पूरी हो गईं।

राजकीय सम्मान के बाद राष्ट्रपति बाइडेन सहित कई राष्ट्राध्यक्ष अपने-अपने देशों के लिए रवाना हो गए। राजकीय सम्मान के बाद महारानी का ताबूत विंडसर कैसल ले जाया गया। वहां परिवार के सदस्यों की मौजदूगी में उनको दफनाने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। उससे पहले शाही जौहरी महारानी की क्राउन निकालेगा, जिसे राजमहल ले जाया जाएगा। गौरतलब है कि कोई 70 साल तक ब्रिटेन की महारानी रहीं एलिजाबेथ द्वितीय का निधन आठ सितंबर को हो गया था। वे 96 साल की थीं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − one =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
गुजरात में मतदान से पहले बवाल! भाजपा उम्मीदवार पर हमला, कार्यकर्ता भी घायल
गुजरात में मतदान से पहले बवाल! भाजपा उम्मीदवार पर हमला, कार्यकर्ता भी घायल