nayaindia Rahul gandhi rally चिंतन शिविर के बाद राहुल की रैली
ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Rahul gandhi rally चिंतन शिविर के बाद राहुल की रैली

चिंतन शिविर के बाद राहुल की रैली

जयपुर। उदयपुर में तीन दिन के चिंतन शिविर के बाद सोमवार को बांसवाड़ा के आदिवासी बहुल इलाके में कांग्रेस ने रैली की। इस रैली में राहुल गांधी ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि उनकी पार्टी जहां लोगों को जोड़ती है वहीं भारतीय जनता पार्टी  उन्हें बांटने का काम करती है। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा दो हिंदुस्तान बनाना चाहती है, जबकि कांग्रेस एक ऐसा हिंदुस्तान चाहती है, जिसमें हर व्यक्ति को अपना सपना पूरा करने का मौका मिले।

राहुल गांधी सोमवार को बांसवाड़ा के आदिवासी बहुल इलाके में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा- देश में दो विचारधाराओं की लड़ाई है। एक तरफ कांग्रेस पार्टी की विचारधारा है, जो कहती है कि सबको जोड़कर चलना है, सबकी इज्जत करनी है, सबका इतिहास, सबकी संस्कृति की रक्षा करनी है। उन्होंने कहा- दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी है, जो लोगों को बांटने का काम करती है, उन्हें कुचलने-दबाने का काम करती है, जो आदिवासियों के इतिहास और संस्कृति को दबाने व मिटाने का काम करती है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा- यह लड़ाई आज हिंदुस्तान में चल रही है। हम जोड़ने का काम करते हैं वह बांटने का काम करते हैं। हम कमजोर लोगों की मदद करते हैं, वे बड़े चुनिंदा उद्योगपतियों की मदद करते हैं। राहुल गांधी ने दावा किया कि पिछली यूपीए सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत किया था लेकिन भाजपा की मौजूदा केंद्र सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाया है। उन्होंने कहा- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की, गलत जीएसटी लागू की, इससे हमारी अर्थव्यवस्था नष्ट हो गई।

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार गरीबों व आदिवासियों के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा- स्वास्थ्य के मामले में राजस्थान सबसे आगे है। उन्होंने कहा- बाकी राज्यों में, जहां भी भाजपा की सरकारें हैं वहां चुनिंदा उद्योगपतियों के लिए काम होता है। शिक्षा का, स्वास्थ्य का काम नहीं होता, युवाओं को रोजगार नहीं मिलता। यह लड़ाई है और यह लड़ाई कांग्रेस पार्टी जीतेगी।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published.

1 + eleven =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
एनआईए की हिरासत में हत्यारे
एनआईए की हिरासत में हत्यारे