राज ठाकरे ने की सीएए, एनआरसी मामले में सरकार की आलोचना - Naya India
ताजा पोस्ट| नया इंडिया|

राज ठाकरे ने की सीएए, एनआरसी मामले में सरकार की आलोचना

पुणे। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख राज ठाकरे ने शनिवार को नरेन्द्र मोदी सरकार की ओर से लाये गये राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) और नागरिक (संशोधन) अधिनियम (सीएए) की आलोचना करते हुए कहा कि यह सरकार इस तरह के कानून को लागू करके सिर्फ लोगों का ध्यान भटका रही है।

ठाकरे ने कहा कि देश हर क्षेत्र में मंदी का सामना कर रहा है लेकिन केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोगों का ध्यान हटाने के लिए एनसीआर और सीएए लाकर एक और खेल खेला है। ठाकरे ने कहा कि एनआरसी और सीएए बिल संसद में पारित होने के बाद पिछले कुछ दिनों से हर राज्य में तनाव है और दंगे हो रहे हैं।

इसे भी पढ़ें :- दिशा कांड : आराेपियों के शवों के दोबारा पोस्टमॉर्टम के आदेश

उन्होंने कहा कि एनआरसी और सीएए जैसा कोई नया कानून बनाने की आवश्यकता ही नहीं है, पहले से ही बने कानून भारत में किसी अवैध घुसपैठिये को रोकने के लिए पर्याप्त हैं। उन्होंने उन राजनेताओं की आलोचना की जो धर्म आैर जाति की राजनीति करते हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय मुसलमानों को इस बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है लेकिन पाकिस्तान, बंगलादेश और अफ़गानिस्तान जैसे देशों से आए मुसलमानों को तुरंत देश छोड़ देना चाहिए।  उन्होंने कहा कि नये कानून में प्रावधान है कि मुस्लिमों को छोड़कर हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध और ईसाई धर्मावलंबी भारत आ सकते हैं।

उन्होंने कहा कि हम पहले से ही 135 करोड़ की आबादी का बोझ उठा रहे हैं, इसके बावजूद, हम दूसरे देश के लोगों को यहां आने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं, जिन्हें हम अनुमति नहीं देंगे। ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना का पहला सम्मेलन 23 जनवरी को मुंबई में आयोजित किया जाएगा, जहां बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता आगे की कार्रवाई और पार्टी के अन्य एजेंडा पर चर्चा करने के लिए मौजूद रहेंगे।
महाराष्ट्र की नयी महाराष्ट्र विकास अघाड़ी सरकार के बारे में कहा कि यह सरकार अधिक दिन नहीं चलेगी क्योंकि तीन दल एकमत नहीं है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने के दौरान जो भी नाटक हुआ, वह दुर्भाग्यपूर्ण था और लोग उन्हें माफ नहीं करेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *