• डाउनलोड ऐप
Saturday, May 15, 2021
No menu items!
spot_img

Rajasthan CM Ashok Gehlot Corona Meeting : तीन सौ लोग मात्र सत्रह दिन में दम तोड़ चुके, भयावह हुआ कोरोना वायरस

Must Read

जयपुर | राजस्थान में कोविड के मरीज 10 हजार का आंकड़ा (Rajasthan Corona Update) प्रतिदिन का पार कर गए हैं। अब प्रदेश के सामने सिर्फ लॉकडाउन (Lockdown in Rajasthan) का विकल्प ही बचा है। कोरोना वायरस (Corona Virus) की दूसरी लहर इतनी खतरनाक है कि राजस्थान में मात्र सत्रह दिन में तीन सौ लोग दम (People died in Rajasthan) तोड़ चुके हैं। अब अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) सरकार भी सख्त कदम उठाने की तैयारी में है। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में जयपुर में ओपन बैठकमें अधिकारी, राजनीतिक दल, धर्मगुरु, सामाजिक संगठनों के साथ सीएम ने कहा कि अब सरकार सोच विचारकर ही लॉकडाउन पर निर्णय करेगी।

Rajasthan में कोरोना ने मचाया कोहराम, 24 घंटे में ही 17 मौतों से सहमा पूरा शहर, 9 हजार को पार कर नए संक्रमित

चिकित्सा विभाग के प्रमुख सचिव सिद्धार्थ महाजन ने कहा कि प्रदेश में मात्र सत्रह दिन में तीन सौ लोग दम तोड़ गए हैं। आने वाले 13 दिन में कोरोना के 1.30 लाख केस होने की आशंका है। अब हमारी गति भारत के औसत से भी आगे निकल चुकी है। अभी प्रदेश में 67 हजार एक्टिव केस हैं। कोविड से मरने वालों में 30 फसदी ग्रामीण इलाकों के हैं। पहले यह मिथक था कि यह शहरी क्षेत्र की बीमारी है। अब ग्रामीण इलाकों में भी कोविड फैल रहा है।

Corona Virus बना काल : देश में पन्द्रह सौ लोगों को चौबीस घंटे में लील गया कोरोना, 2 लाख 61 हजार 500 नए मामले

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा- यह खासा चिंताजनक है कि पिछली बार पूरी साल जितना तनाव नहीं था। उतना एक माह में हो गया है। ब्रिटेन ने चार माह तक लॉकडाउन लगाया, सिंगापुर ने भी बहुत कड़े कदम उठाए। गहलोत ने कहा कि सिंगापुर में बिना मास्क बाहर निकलने पर 5000 डॉलर जुर्माना है। हमें भी अपने प्रदेश को बचाना है। मास्क वैक्सीन से कम नहीं है। मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और बार-बार हाथ धोने पर जोर देना होगा। लोगों ने इसको लेकर बड़ी लापरवाही बरतनी शुरू कर दी है, इसलिए ऐसे हालात बन रहे हैं। गहलोत ने कहा कि अब तो तीस प्रतिशत मरीज गांवों से आ रहे हैं। प्रदेश में कुंभ से आने वालों के कारण गांवों में भी कोरोना फैला है। गहलोत ने कहा है कि गुजरात-महाराष्ट्र से आने वालों के कारण डूंगरपुर, उदयपुर, बांसवाड़ा सहित कई जिलों के गांवों में महामारी ज्यादा फैली है।

चुनाव खत्म होते ही कोरोना विस्फोट

गहलोत बोले भारत सरकार ने आक्सीजन नहीं दी
सीएम गहलोत ने कहा, पहले भिवाड़ी में ऑक्सीजन बन रही थी। उसे भारत सरकार ने केन्द्रीकृत कर दिया। पहले राजस्थान को नाम मात्र का ऑक्सीजन भारत सरकार ने अलॉट किया। अब जामनगर से ऑक्सीजन का कोटा मिला है। परन्तु जामनगर में टैंकर नहीं है। सरकार की ओर से वहां से ऑक्सीजन लाने की व्यवस्था की जा रही है।

परिवार के परिवार खत्म हो रहे हैं
गहलोत ने कहा कि दूसरा फेज इतना खतरनाक है कि परिवार के परिवार खत्म हो रहा है। पहले यह वायरस संक्रमण नौजवानों में कम था। अब नौजवान भी इसकी भारी चपेट में आ रहे हैं। राजस्थान में तेजी से मृत्यु दर बढ़ रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी ने सोचा नहीं होगा कि राजस्थान में भी इतनी अधिक मृत्यु दर होगी। हमारे पड़ोसी राज्यों के हालात सबके सामने है। देश में उपचार के लिए रेमडेसिवर, ऑक्सीजन की कमी है। शनिवार को ऑक्सीजन और दवाओं को लेकर प्रधानमंत्री को अफसरों और राज्यों के साथ वीसी करनी पड़ी।

ये भी पढ़ें :- ज्योतिष बता रहा है कोरोना, लॉकडाउन, रोजगार और स्वास्थ्य की नजर से कैसा रहेगा यह सप्ताह

भारत सरकार की नीति ठीक नहीं
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, वैक्सीनेशन में भारत सरकार की नीति ठीक नहीं कही जा सकती है। भारत सरकार ने पहले फ्रंट लाइन, फिर 60 साल, फिर 45 साल किया। यह उचित नहीं है। वैक्सीनेशन को ओपन करना चाहिए था। यही नहीं विदेश से वैक्सीन मंगवाने की अनुमति देनी चाहिए थी।

ये भी पढ़ें :- आक्सीजन की कमी से जूझता महाराष्ट्र और फोन लगाते रहे सीएम उद्धव ठाकरे, प्रधानमंत्री रैली में थे, नहीं हुई बात

औद्योगिक इलाकों की सप्लाई रोक दी गई है
महाजन ने बताया कि 11 दिन में ऑक्सीजन की मांग दोगुनी ​​​​​​​हो जाएगी। ग्रामीण इलाकों के ऑक्सीजन प्लांट को भी 24 घंटे प्रोडक्शन के लिए कह दिया है। इंडस्ट्रीयल ऑक्सीजन की सप्लाई को रोककर मेडिकल और अस्पतालों को दिया जा रहा है। हालात ऐसे हैं कि कई जिलों में ऑक्सीजन बेड करीब-करीब फुल हो गए हैं। ऑक्सीजन सप्लाई के लिए भारत सरकार से वीसी की गई है। ऑक्सीजन प्लांट्स को 24 घंटे बिजली दी जाएगी।

कैबिनेट की बैठक में भी चर्चा
इससे पहले मुख्यमंत्री ने मंत्री मंडल की बैठक ली। मंत्रियों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से सख्ती करने को कहा, लेकिन लॉकडाउन टालने का सुझाव दिया है। मंत्रीमंडल की बैठक में लॉकडाउन पर फैसला नहीं हुआ है। इस बैठक में हुई चर्चा के अनुसार अब इस बात की संभावना है कि कोराना से ज्यादा प्रभावित जिलों में लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया जाए। मुख्यमंत्री ने 3 दिन पहले ही ओपन बैठक की थी। उस बैठक के बाद वीकेंड लॉकडाउन की घोषणा की थी।

ये भी पढ़ें :- आक्सीजन की कमी से जूझता महाराष्ट्र और फोन लगाते रहे सीएम उद्धव ठाकरे, प्रधानमंत्री रैली में थे, नहीं हुई बात

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जाने सत्य

Latest News

Rajasthan COVID Update: राजस्थान में राहत! बीते 48 घंटों में गिरी नए संक्रमितों की संख्या, लेकिन मौतें बरकरार

जयपुर। Rajasthan COVID Update: राजस्थान में सरकार की सख्ती और लोगों की जागरूकता का असर अब दिखने लगा है।...

More Articles Like This